कोरोना कवच: COVID-19 के लिए भारत सरकार ने लांच की एप्प

हाल ही में  भारत सरकार ने जीपीएस के माध्यम से  COVID-19 पॉजिटिव मरीजों की लोकेशन को मैप करने के लिए कोरोना कवच एप्लीकेशन लॉन्च की। मुख्य बिंदु इस एप्लीकेशन को दक्षिण कोरिया और सिंगापुर जैसे देशों में सफलता के बाद भारत द्वारा शुरू किया गया है। “कोरोना कवच” एप्लीकेशन यूजर्स के डाटा को हर घंटे

410 जिलों में राष्ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण किया गया

2 अप्रैल, 2020 को केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने COVID-19 पर राष्ट्रीय तैयारी सर्वेक्षण जारी किया। यह सर्वेक्षण 3 कार्य दिवसों में 410 जिलों में आयोजित किया गया। सर्वेक्षण का उद्देश्य यह सर्वेक्षण निम्नलिखित प्राप्त करने के लिए आयोजित किया गया था  : राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों का तुलनात्मक विश्लेषण करना वायरस का मुकाबला

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग स्वचालित वेंटिलेटर का निर्माण करेगा

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग ने विप्रो 3डी के साथ संयुक्त रूप से स्वचालित वेंटिलेटर के प्रोटोटाइप का निर्माण करने के लिए साझेदारी की है। मुख्य बिंदु वेंटिलेटर COVID-19 संकट की तत्काल आवश्यकता को पूरा करने में मदद करेंगे। वेंटिलेटर को एएमबीयू (Artificial Manual Breathing Unit) कहा जाता है। यह वेंटीलेटर उन रोगियों को स्वचालित दबावयुक्त

भारत सरकार  ने लॉन्च की “COVID-19 फैक्ट चेक यूनिट”

2 अप्रैल, 2020 को भारत सरकार ने सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तहत “COVID-19 फैक्ट चेक यूनिट” लॉन्च किया है। मुख्य बिंदु इस इकाई GMAIL के माध्यम से संचालित किया जाएगा। यह pibfactcheck@gmail.com पर संदेश प्राप्त करेगा और जल्द से जल्द प्रतिक्रिया भेजेगा। यह COVID-19 के बारे में सूचना प्रदाता के स्रोत के रूप में

COVID​​-19 से लड़ने के लिए ‘एक्सरसाइज एनसीसी योगदान’ को लॉन्च किया गया

2 अप्रैल, 2020 को नेशनल कैडेट कॉर्प्स (NCC) ने COVID-19 के खिलाफ लड़ने वाले अधिकारियों की मदद के लिए “एक्सरसाइज एनसीसी योगदान” लॉन्च किया। मुख्य बिंदु इस अभ्यास के तहत एनसीसी कैडेटों को विशेष रूप से  सामुदायिक सहायता, राहत सामग्री के वितरण, दवाओं और अन्य आवश्यक खाद्य वस्तुओं, डाटा प्रबंधन और यातायात प्रबंधन के लिए