करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

उत्तर प्रदेश स्टार्टअप पॉलिसी 2020 को कैबिनेट की मंजूरी मिली

राज्य को स्टार्टअप्स के लिए अनुकूल बनाने के लिए, उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य कैबिनेट ने ‘स्टार्टअप नीति 2020’  को स्वीकृति प्रदान की है। जुलाई, 2020 तक  उत्तर प्रदेश में  स्टार्टअप्स के लिए व्यापक और स्वतंत्र स्टार्टअप नीति नहीं थी।

उत्तर प्रदेश स्टार्टअप नीति को राज्य सरकार द्वारा  नीति आयोग की मदद से तैयार किया गया है।

स्टार्टअप नीति 2020

राज्य सरकार द्वारा अधिसूचना की तारीख से, स्टार्टअप नीति 2020 पांच वर्षों की अवधि के लिए लागू होगी। इसका उद्देश्य इन 5 वर्षों में राज्य भर में 10,000 से अधिक स्टार्टअप का कॉरपोरेटाइजेशन होगा।

लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, राज्य के सभी 75 जिलों में 100 इनक्यूबेटर स्थापित किए जाएंगे, यह भी सुनिश्चित किया जायेगा कि एक जिले में कम से कम एक इनक्यूबेटर स्थापित किया जाये। सरकार के अनुमान के अनुसार, यह स्टार्टअप नीति पूरे राज्य में 50,000 प्रत्यक्ष और 1,00,000 अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा करेगी।

नीति के तहत अन्य प्रमुख लक्ष्य हैं: राज्य में भारत का सबसे बड़ा इनक्यूबेटर स्थापित करना और देश में रक्षा क्षेत्र के लिए पहला समर्पित इनक्यूबेटर स्थापित करना।

स्टार्टअप फंड

20 मई, 2020 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश ‘स्टार्टअप फंड’ को लांच किया था। यह स्टार्टअप फंड SIDBI (स्मॉल इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया) द्वारा प्रबंधित किया जाएगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

ISRO अगस्त 2020 में ब्राजील के अमेजोनिया -1 उपग्रह को लॉन्च करेगा

ब्राजील द्वारा विकसित किया गया पहला पृथ्वी अवलोकन उपग्रह भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा लॉन्च किया जाएगा। इस उपग्रह को ‘अमेजोनिया -1’ के नाम से जाना जाता है। इसरो द्वारा अभी तक अमेजोनिया-1 की सटीक लॉन्च तिथि की पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, लॉन्च अगले महीने (अगस्त 2020) में होगा।

पृष्ठभूमि

25 जनवरी, 2004 को भारत और ब्राजील के बीच बाह्य अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। फ्रेमवर्क समझौते के एक भाग के रूप में, इसरो ब्राजील की अंतरिक्ष एजेंसी (AEB) का एक माइक्रो-उपग्रह लॉन्च करेगा। यह माइक्रोसेटेलाइट वायुमंडलीय अध्ययन के लिए होगा।

अमेजोनिया-1

अमेजोनिया-1 को मूल रूप से AEB के मुख्य उपग्रह प्रक्षेपण वाहन VLS-1 द्वारा 2018 में लॉन्च किया जाना था। लेकिन तकनीकी कारणों से VLS-1 के साथ लॉन्च रद्द कर दिया गया था। अमेजोनिया-1 को अब आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से PSLV के पेलोड के रूप में लॉन्च किया जाएगा।

अमेजोनिया-1 का संचालन चीन-ब्राजील अर्थ रिसोर्स सैटेलाइट प्रोग्राम (CBERS) के साथ होगा। चीन और ब्राजील के बीच CBERS कार्यक्रम के तहत, 6 उपग्रहों को आज तक लॉन्च किया गया है (पहला उपग्रह CBERS-1 अक्टूबर 1999 में लॉन्च किया गया था)।

अमेजोनिया-1 पहला उपग्रह है जिसे AEB द्वारा पूरी तरह से डिजाइन, एकीकृत और परीक्षण किया गया है, लॉन्च के बाद यह उपग्रह ब्राजील द्वारा पूरी तरह से संचालित किया जाने वाला पहला उपग्रह होगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement