अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस : 15 अक्टूबर

15 अक्टूबर को प्रतिवर्ष विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसका उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका व उनके योगदान को सम्मानित करना है।  इस दिवस के द्वारा ग्रामीण कृषि, विकास, निर्धनता उन्मूलन, खाद्य सुरक्षा को बेहतर करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका बेहतर करने में महिलाओं की भूमिका तथा योगदान को हाईलाइट किया जाता है।

थीम: Rural Women and girls building climate resilience

पृष्ठभूमि

अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसम्बर, 2007 में 62/136 प्रस्ताव पारित करके की थी। पहली बार 15 अक्टूबर, 2008 को अंतर्राष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस मनाया गया था। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार धारणीय विकास लक्ष्यों (Sustainable Development Goals – SDG) को प्राप्त करने के लिए ग्रामीण महिलाओं का सशक्तिकरण अति आवश्यक है। SDG के द्वारा निर्धनता उन्मूलन, खाद्य सुरक्षा तथा महिलाओं व लड़कियों का सशक्तिकरण सुनिश्चित किया जायेगा।

ग्रामीण महिलाएं विश्व की कुल जनसँख्या का ¼ हिस्सा है। इनमे से अधिकतर महिलाओं आजीविका के लिए प्राकृतिक संसाधनों तथा कृषि पर निर्भर हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के द्वारा खाद्य सुरक्षा तथा निर्धनता उन्मूलन में ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की जाती है।

Month:

Categories:

Tags: , , ,

« »

Advertisement

Comments