अधीर रंजन चौधरी को लोक लेखा समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी को मौजूदा 30 सदस्यों के साथ संसद की लोक लेखा समिति के अध्यक्ष के रूप में एक वर्ष के लिए फिर से नियुक्त किया गया है। इस समिति को पहली बार 1921 में मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार के परिणामस्वरूप तैयार किया गया था। 1950 के बाद यह समिति एक संसदीय समिति बन गई, जिसने एक गैर-आधिकारिक अध्यक्ष के साथ लोकसभा स्पीकर के नियंत्रण में कार्य किया। 1967 से इस समिति का अध्यक्ष विपक्षी दल से चुना जाता है।

लोक लेखा समिति

लोक लेखा समिति एक संसदीय समिति है जो भारतीय सरकार के खर्चों की लेखा परीक्षा करती है। इसकी स्थापना 1921 में भारत सरकार अधिनियम 1919 के द्वारा की गई। इसमें 22 सदस्य होते हैं जिनमें 15 लोकसभा जबकि 7 राज्यसभा से होते हैं। इसका अध्यक्ष लोकसभा अध्यक्ष द्वारा मनोनीत किया जाता है। 1967 तक इसका अध्यक्ष सत्तारूढ़ दल से होता था जबकि 1967 के बाद से इसका अध्यक्ष विपक्ष से होता है। केंद्रीय मंत्री इसके सदस्य नहीं बन सकते।

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments