अरब जगत के पहले परमाणु रिएक्टर ने अपना ऑपरेशन शुरू किया

तेल से समृद्ध खाड़ी राष्ट्र यूएई के अबू धाबी में अरब जगत के पहले परमाणु रिएक्टर “बराकाह” ने काम करना शुरू किया। बराकाह के  2017  अपना ऑपरेशन शुरू करने की उम्मीद थी। हालांकि, सुरक्षा के विभिन्न मुद्दों के कारण, इसमें देरी होती रही।

बराकाह

अमीरात न्यूक्लियर एनर्जी कॉर्पोरेशन (ENEC) और कोरिया इलेक्ट्रिक पावर कॉरपोरेशन (KEPCO) के एक संयुक्त उद्यम में विकसित इस reactor का अर्थ अरबी में “आशीर्वाद” है। KEPCO के सहयोग से, परमाणु रिएक्टर पावर प्लांट ने अपने चार रिएक्टरों में से एक में परमाणु विखंडन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। रिएक्टर प्लांट में ऊर्जा 1,400-मेगावॉट के दबाव वाले पानी के रिएक्टर द्वारा उत्पन्न की जाएगी, जिसे दक्षिण कोरिया में डिज़ाइन किया गया है, जिसे APR-1400 कहा जाता है। अभी के लिए, चार रिएक्टरों में से केवल एक ही काम कर रहा है, हालांकि, देश का उद्देश्य 2023 तक अपने सभी चार रिएक्टरों को परिचालन मोड पर सेट करना है। यह लगभग 5.6 गीगावाट ऊर्जा का उत्पादन करेगा जो देश की एक चौथाई बिजली की देश की ज़रुरत को पूरा करेगा।

अन्य विकास

न्यूक्लियर इंडस्ट्री वाचडॉग  (IAEA) इंटरनेशनल एटॉमिक एनर्जी एजेंसी के चौकीदार ने अपने प्रशंसात्मक ट्वीट में लिखा है कि “प्लांट की यूनिट 1 ने अपनी पहली क्रिटिकैलिटी हासिल की है”। तेल समृद्ध खाड़ी राज्य यूएई सौर ऊर्जा में भारी निवेश करता है। कुछ हफ़्ते पहले इस  देश ने एक मंगल मिशन पर एक प्रोब भेजी थी जो खाड़ी क्षेत्र में अपनी तरह का पहला मामला है।

Month:

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments