इंडियन आयल पानीपत में करेगा 2G एथेनॉल प्लांट की स्थापना

हरियाणा के पानीपत में 2G एथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए पर्यावरण मंत्रालय ने इंडियन आयल कारपोरेशन को क्लीयरेंस दे दी है। इंडिया आयल इस प्लांट की स्थापना के लिए 766 करोड़ रुपये का निवेश करेगा।

इस प्लांट में उप्तादित किये जाने वाले एथेनॉल को परिवहन इंधन में मिलाया जायेगा। इस परियोजना का उद्देश्य किसानों की आय को दोगुना करना है।

केंद्र सरकार पेट्रोलियम उत्पादों पर निर्भरता को कम करने के लिए काफी प्रयास कर रही है। हाल ही में केंद्र सरकार ने अधिसूचना जारी करके स्पष्ट किया था कि गन्ने के रस से एथेनॉल के उत्पादन के लिए शुगर मिलों को पर्यावरणीय क्लीयरेंस की ज़रुरत नहीं है।

भारत में एथेनॉल

भारत में 2003 में एथेनॉल को इंधन के रूप में उपयोग किये जाने की शुरुआत हुई। शुरू में E5 इंधन में 95% डीजल तथा 5% एथेनॉल मिलाया जाता था। 2006 में भारत ने E10 जैव इंधन का दूसरा चरण शुरू किया, इस चरण में 90% डीजल तथा 10% एथेनॉल तथा 90% डीजल मिलाया जाता है। भारत को अभी E15 औपचारिक रूप से लांच करना बाकी है। गौरतलब है कि कई देश E100 तक लांच कर चुके हैं।

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments