कार्टोसैट-3 क्या है?

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन 27 नवम्बर, 2019 को कार्टोसेट-3 नामक इमेजिंग व मैपिंग उपग्रह को लांच करेगा। इसके साथ 13 वाणिज्यिक उपग्रह भी लांच किये जायेंगे।

कार्टोसैट-3

यह तीसरी पीढ़ी का पृथ्वी पर्यवेक्षण उपग्रह है, इसका निर्माण इसरो द्वारा किया गया है। यह इसरो द्वारा निर्मित सबसे एडवांस्ड इमेजिंग सैटेलाइट्स में से एक है। यह उपग्रह पृथ्वी के हाई रेजोल्यूशन चित्र लेने में सक्षम है। अब तक कुल 8 कार्टोसेट उपग्रह लांच किये जा चुके हैं।

कार्टोसैट का उपयोग शहरी नियोजन, कृषि, जल संसाधन प्रबंधन, ग्रामीण विकास, पर्यावरण, वानिकी, महासागरीय संसाधन तथा आपदा प्रबंधन के लिए किया जायेगा।

कार्टोसैट-3 तथा अन्य वाणिज्यिक उपग्रहों को श्रीहरिकोटा से PSLV-C47 के द्वारा लांच किया जायेगा। यह 13 वाणिज्यिक उपग्रह लक्सेम्बर्ग बेस्ड स्पेस कंपनी क्लेओस के हैं। यह उपग्रह कंपनी के स्काउटिंग मिशन के उपग्रहों के समूह का हिस्सा हैं। स्काउटिंग मिशन के डाटा का उपयोग समुद्री गतिविधि, निगरानी तथा इंटेलिजेंस से सम्बंधित कार्य के लिए किया जायेगा।

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments