केंद्र सरकार ने गूगल और एप्पल को एप्प स्टोर से “टिक टॉक” एप्प को हटाने का निर्देश दिया

केंद्र सरकार ने गूगल और एप्पल को एप्प स्टोर से “टिक टॉक” एप्प को हटाने का निर्देश दिया है। दरअसल हाल ही में मद्रास उच्च न्यायालय ने “टिक टॉक” एप्प पर प्रतिबन्ध लगाने का आदेश दिया था। बाद में सर्वोच्च न्यायालय ने मद्रास उच्च न्यायालय के इस आदेश पर रोक लगाने से इनकार किया। इसके बाद सरकार को चीनी सोशल मीडिया एप्प “टिक टॉक” को हटाने के लिए कार्यवाई करनी पड़ी। गूगल ने आदेश का पालन करते हुए प्ले स्टोर से “टिक टॉक” को हटा दिया है। इस एप्प पर अश्लीलता फैलाने तथा बच्चों के लिए उचित सुरक्षा की व्यवस्था न होने के कारण प्रतिबन्ध लगाया गया है।

इस एप्प पर जुलाई, 2018 में इंडोनेशिया में प्रतिबन्ध लगाया गया था। बाद में इसे हटा दिया गया था। बांग्लादेश ने नवम्बर, 2018 में इस एप्प को ब्लाक कर दिया था।

टिक टॉक

यह एक चीनी एप्प है, इस एप्प पर यूजर छोटे वीडियोज साझा कर सकते हैं। इस एप्प को बाइटडांस नामक चीनी कंपनी ने सितम्बर, 2016 में लांच किया था। यह एप्प एशिया में काफी लोकप्रिय है। विश्व भर में इस एप्प के 500 मिलियन से अधिक यूजर्स हैं।

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • ganesh patond
    Reply

    nahi diya ye samachar modi ne