जस्टिस डॉ. रवि रंजन बने झारखण्ड उच्च न्यायालय के नए मुख्य न्यायधीश

जस्टिस डॉ. रवि रंजन ने हाल ही में झारखण्ड उच्च न्यायालय के 13वें मुख्य न्यायधीश के रूप में शपथ ले ली है। उन्हें राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू द्वारा पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई गयी। झारखण्ड के पूर्व मुख्य न्यायधीश अनिरुद्ध को सर्वोच्च न्यायालय का न्यायधीश नियुक्त किये जाने के बाद मई, 2019 से झारखण्ड के मुख्य न्यायधीश का पद खाली चल रहा था।

जस्टिस रवि रंजन

झारखण्ड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश के रूप में कार्य करने से पहले वे पंजाब व हरियाणा उच्च न्यायालय में कार्य कर रहे थे। जुलाई 2008 में वे पटना उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायधीश बने थे। वाद में जनवरी 2010 में स्थायी न्यायधीश बने थे। 2018 में वे कुछ समय के लिए पटनाउच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायधीश बने थे।

भारत में उच्च न्यायालय

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 214 के अनुसार प्रत्येक राज्य के लिए एक उच्च न्यायालय की व्यवस्था होनी चाहिए। उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश की नियुक्ति संविधान के अनुच्छेद 217 के तहत राष्ट्रपति द्वारा भारत के मुख्य न्यायधीश तथा सम्बंधित राज्य के राज्यपाल के साथ परामर्श के बाद की जाती है। उच्च न्यायालय के न्यायधीशों की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा भारत के मुख्य न्यायधीश तथा सम्बंधित उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश के साथ परामर्श के बाद की जाती है।

Month:

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments