पाकिस्तान द्वारा वियना कन्वेंशन का उल्लंघन करने के बाद भारत ने 50% स्टाफ कटौती का निर्णय लिया

23 जून. 2020 को विदेश मंत्रालय ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के कर्मचारियों की संख्या को 50% कम करने का फैसला किया है और नई दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग को अपने स्टाफ में 50% की कमी करने के लिए कहा है।

राजनयिक संबंधों का यह महत्वपूर्ण डाउनग्रेडिंग निम्न के कारण है:

  1. भारतीय उच्चायोग के दो कर्मचारियों के बंदूक की नोक पर इस्लामाबाद में अपहरण किया गया और पाकिस्तानी अधिकारीयों द्वारा उनके साथ बर्बर व्यवहार किया गया।   यह दो भारतीय उच्चायोग के कर्मचारी 22 जून को भारत लौटे।
  2. दो पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारी 31 मई, 2020 को जासूसी करते हुए रंगे हाथ पकडे गये।  ये दोनों पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारी आतंकवादी संगठनों के साथ काम कर रहे थे। इन दो पाकिस्तानी नागरिकों को तुरंत उनके काम से निकाल दिया गया और उन्हें उसी दिन पाकिस्तान लौटने के लिए कहा गया। वर्षों से भारत ने नई दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों की गतिविधियों पर लगातार चिंता व्यक्त की है।

पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा दो भारतीय उच्चायोग के कर्मचारियों के साथ इस असभ्य व्यवहार के साथ, पाकिस्तान ने वियना संधि और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय समझौतों का भी उल्लंघन किया है।

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments