भारतीय सेना ने राष्ट्रीय हाइड्रोएलेक्टिक पॉवर कारपोरेशन (NHPC) के साथ MoU पर हस्ताक्षर किये

भारतीय सेना ने राष्ट्रीय हाइड्रोएलेक्टिक पॉवर कारपोरेशन (NHPC) के साथ MoU पर हस्ताक्षर किये, इस समझौते के तहत NHPC चीन और पाकिस्तान के साथ लगने वाली सीमा के निकट गोला-बारूद के भण्डारण के लिए भूमिगत सुरंगों का निर्माण करेगा। यह एक पायलट प्रोजेक्ट है, यह सुरंगे दो वर्ष के भीतर तैयार कर ली जायेंगी। इस प्रोजेक्ट की लागत लगभग 15 करोड़ रुपये है।

मुख्य बिंदु

इस पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत तीन सुरंगों का निर्माण चीन के साथ लगने वाली सीमा पर किया जायेगा जबकि एक सुरंग का निर्माण पाकिस्तान के साथ लाइन ऑफ़ कण्ट्रोल के साथ किया जाएगा। यह प्रोजेक्ट भारतीय सेना के लिए बहुत ज़रूरी है। सीमा के साथ लगने वाले क्षेत्र में अधोसंरचना के मामले में चीन भारत से काफी आगे है। वर्तमान में भारतीय सेना अपने गोला-बारूद को भूमि के ऊपर बने स्थान पर रखती है, इस प्रकार के गोला-बारूद को दुश्मन देश के सैटेलाइट ढूंढ सकते हैं।

Month:

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments