भारत और विश्व बैंक ने असम अंतर्देशीय जल परिवहन परियोजना के लिए 88 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किये

असम सरकार, भारत सरकार और विश्व बैंक ने असम अंतर्देशीय जल परिवहन परियोजना के क्रियान्वयन के लिए 88 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस समझौते का उद्देश्य ब्रह्मपुत्र नदी में असम की फेरी परिवहन सेवा का आधुनिकीकरण करना है।

असम अंतर्देशीय जल परिवहन परियोजना का उद्देश्य असम की फेरी अधोसंरचना को सुधारना है तथा उन संस्थानों को मज़बूत करना है जो अंतर्देशीय जल परिवहन का संचालन करना है। इस परियोजना में नये उर्जा दक्ष पोत भी इस्तेमाल किये जायेंगे। इस परियोजना में कार्गो पोत भी शामिल किये जायेंगे।

अंतर्देशीय जल परिवहन परिवहन की लागत भी कम आती है और इससे कार्बन उत्सर्जन भी कम होता है।

अंतर्देशीय जलमार्ग

असम में 15 जलमार्गों का संचालन किया जा रहा है, यह जलमार्ग बराक, बेकी, लोहित, दोयांग, कोपिली, सुबनसिरी, आई, दिहिंग, पुथिमारी, गंगाधर, जिन्जिराम और तिवांग नदियों पर हैं। यह जलमार्ग ब्रह्मपुत्र के द्वारा बंगाल की खाड़ी  को जोड़ते हैं।

Month:

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments