विश्व आर्थिक फोरम ने जारी की “फ्यूचर ऑफ़ कंसम्पशन इन फ़ास्ट-ग्रोथ कंस्यूमर मार्केट – इंडिया” रिपोर्ट

विश्व आर्थिक फोरम ने हाल ही में “फ्यूचर ऑफ़ कंसम्पशन इन फ़ास्ट-ग्रोथ कंस्यूमर मार्केट – इंडिया” रिपोर्ट जारी की। यह रिपोर्ट बैन एंड कंपनी के सर्वेक्षण पर आधारित थी, इस सर्वेक्षण को 30 शहरों के 5100 घरों में किया गया है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • 2030 में भारत अमेरिका और चीन के बाद विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जायेगा।
  • 2030 तक भारत का मौजूदा उपभोक्ता व्यय 1.5 ट्रिलियन डॉलर से बढ़कर 6 ट्रिलियन डॉलर हो जायेगा।
  • तीव्र आर्थिक दर होने के बावजूद भी भारत को कुछ एक क्षेत्रों में कार्य करने की आवश्यकता है। भारत को अभी भी कौशल विकास, भविष्य के कार्यबल, ग्रामीण भारत के सामाजिक-आर्थिक समावेश तथा देश के नागरिकों के लिए स्वस्थ तथा सतत भविष्य इत्यादि के लिए काफी कार्य करने की आवश्यकता है।
  • आय में वृद्धि होने से भारत आय वर्गीय देश से मध्यम आय वर्गीय देश बन जायेगा।
  • उपभोग वृद्धि दर में बड़े शहरों तथा विकसित ग्रामीण क्षेत्रों के कारण काफी वृद्धि होगी।
  • 2030 तक भारत के टॉप 10 शहरों में 1.5 ट्रिलियन डॉलर के अवसर उत्पन्न होंगे।
  • अधोसंरचना के विकास तथा संगठित व ऑनलाइन रिटेल को बढ़ावा देकर 1.2 ट्रिलियन डॉलर के अवसरों को अनलॉक किया जा सकता है।

विश्व आर्थिक फोरम  (WEF)

यह एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है, इसकी स्थापना क्लाउस श्वाब ने सार्वजनिक-निजी सहयोग के द्वारा विश्व की स्थित में सुधार के लिए की थी। इसकी स्थापना 1971 में की गयी थी। इसका मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड के जिनेवा में स्थित है। यह एक गैर-लाभकारी संगठन है, यह अन्य अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य करता है। यह संगठन राजनीती, व्यापार, शिक्षा तथा उद्योग इत्यादि विभिन्न क्षेत्रों के लीडर्स के भी कार्य करता है।

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments