अर्थव्यवस्था करेंट अफेयर्स

फ्लिपकार्ट और अमेज़न ने अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से बंद किया

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और अमेज़न ने देश में लॉक डाउन के बाद अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है।

मुख्य बिंदु

फ्लिपकार्ट ने अपनी सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया है, जबकि अमेज़न केवल लंबित ऑर्डर्स का पालन करेगी। अमेज़न ने अस्थायी रूप से नए आर्डर लेना बंद कर दिया है। सभी प्रकार किराने की वस्तुओं की डिलीवरी भी निलंबित की जाएगी।

गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार आवश्यक सेवाओं से सम्बंधित काम करने वाली सरकारी संस्थाएं लॉक डाउन के बावजूद भी काम करती रहेंगी।

प्रभाव

वर्तमान में लगभग 40% भारतीय अपनी खरीदारी करने के लिए ई-कॉमर्स प्लेटफार्म का उपयोग करते हैं। 2009 में भारत में ई-कॉमर्स बाजार 3.9 बिलियन डालर था, 2018 में यह 38.5 बिलियन डालर हो गया है।

भारत अपने स्थानीय और छोटे व्यापारियों को बढ़ावा देने के लिए हमेशा सतर्क रहा है। वर्तमान में देश में लॉक डाउन की स्थिति में स्थानीय किसानों, विक्रेताओं और छोटे व्यापारियों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने की अनुमति है। हालांकि इन ई-कॉमर्स कंपनियों पर कोई अलग प्रतिबन्ध नहीं लगाए गए थे, लेकिन परिवहन प्रतिबंधों के कारण वे अपनी आपूर्ति जारी रखने में असमर्थ हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

2009 से बद्दतर होगी COVID-19 के कारण होने वाली मंदी : अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष

24 मार्च, 2020 को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने घोषणा की कि कोरोना वायरस के कारण होने वाली मंदी 2009 से भी बद्दतर है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने विशेष रूप से G-20 देशों को चेतावनी दी है कि वर्तमान आर्थिक दृष्टिकोण नकारात्मक है।

कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए वैश्विक समाधान ढूँढने के लिए G-20 देश एक सप्ताह में एक आभासी शिखर सम्मेलन का आयोजन करेंगे।

मुख्य बिंदु

आईएमएफ के अनुसार मौजूदा शटडाउन के कारण विश्व में 1.5% गिरावट आई है है। इसके चलते निवेशकों ने उभरते बाजारों से अपने निवेश को हटा दिया है। इसके अलावा 2020 के लिए वैश्विक विकास का दृष्टिकोण नकारात्मक है।

राहत उपाय

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष 1 ट्रिलियन डॉलर उपलब्ध करवाएगा। 80 से अधिक देशों ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष से आपातकालीन फण्ड के लिए अनुरोध किया है।

2008 संकट

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार 2008 के वित्तीय संकट के दौरान वैश्विक अर्थव्यवस्था में 2009 में 0.6% तक संकुचन हुआ था। हालांकि, भारत और चीन जैसे उभरते बाजार तेजी से बढ़ रहे थे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement