अर्थव्यवस्था करेंट अफेयर्स

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लांच किया इज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस ग्रैंड चैलेंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में इज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नस ग्रैंड चैलेंज लांच किया, इसका उद्देश्य नवीनतम टेक्नोलॉजी के उपयोग द्वारा 7 चिन्हित की गयी समस्याओं के समाधान के लिए कार्य करना है। भारतीय तथा विदेशी कंपनियों के सीईओ के साथ इंटरेक्शन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कार्यक्रम को लांच किया।

इज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नस ग्रैंड चैलेंज

इस चैलेंज का उद्देश्य युवा भारतीयों, स्टार्टअप्स तथा निजी उद्योगों की संभावित क्षमता का उपयोग करना है, इसके चैलेंज में कुछ एक निश्चित समस्याओं के लिए आधुनिक तकनीक द्वारा समाधान ढूंढें जायेंगे। यह सरकार द्वारा भारत को व्यापार करने के लिए एक सुगम स्थल बनाने की योजना की हिस्सा है। देश में व्यापार करने के लिए माहौल को बेहतर करने के लिए सरकार काफी समय से प्रयास कर रही है। इस चैलेंज में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स (IoT), बिग डाटा एनालिटिक्स, ब्लाकचैन जैसी नवीनतम टेक्नोलॉजी के द्वारा सरकारी प्रक्रिया में सुधार किया जायेगा। इस ग्रैंड चैलेंज का प्लेटफार्म स्टार्टअप इंडिया पोर्टल पर होगा।

पृष्ठभूमि

विश्व बैंक ने हाल ही में ईज ऑफ़ डूइंग बिज़नेस के सम्बन्ध में रिपोर्ट जारी की थी, इस रिपोर्ट में भारत 23 पायदान की छलांग लगाकर 77वें स्थान पर पहुँच गया है। इस रैंकिंग के लिए व्यापार शुरू करने, ऋण प्राप्त करने, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार इत्यादि 10 मानकों पर देशों को रैंकिंग प्रदान की जाती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज अब स्वयं करेगा सूचकांको का निर्माण

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने हाल ही में S&P डाउ जोंस के साथ करार समाप्त करने का निर्णय लिया है, S&P डाउ जोंस सेंसेक्स को ऑपरेट तथा प्रबंधित करता है। अब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज स्वयं सूचकांकों के निर्माण की योजना बना रहा है।

मुख्य बिंदु

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और डाउ जोंस ने 2013 में एशिया इंडेक्स शुरू किया था, इसमें वैश्विक तथा घरेलु निवेशकों के पास दक्षिण एशिया की अर्थव्यवस्थाओं में निवेश का विकल्प था। हाल ही में BSE और डाउ जोंस के बीच यह लाइसेंसिंग समझौता समाप्त हो रहा है, BSE ने इसे रीन्यू न करने का निर्णय लिया है। यह समझौता 31 दिसम्बर, 2018 को समाप्त हो रहा है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है, इसकी स्थापना 1875 में की गयी थी। इसका कार्यालय मुंबई की दलाल स्ट्रीट में स्थित है। ब्रिटिश सरकार ने 1927 में BSE को अस्थायी स्वीकृति प्रदान की थी। भारत सरकार ने 31 अगस्त, 1957 को BSE को स्थायी स्वीकृति प्रदान की थी। वर्तमान में मार्केट कैपिटलाइजेशन के अनुसार BSE विश्व का 10वां सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है, इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.7 खरब डॉलर है। BSE में 5000 से अधिक कंपनियों लिस्टेड हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement