अर्थव्यवस्था करेंट अफेयर्स

वित्त मंत्रालय ने समावेशी परियोजना के लिए विश्व बैंक के साथ एक ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये

वित्त मंत्रालय ने समावेशी परियोजना के लिए भारत में नवाचार (innovation) को बढावा देने हेतु विश्व बैंक से लगभग 125 यूएस डॉलर के आईबीआरडी क्रेडिट (IBRD credit of US$ 125) ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस परियोजना का उद्देश्य स्वदेशी नवाचार को बढ़ावा देना, स्थानीय उत्पाद विकास को बढ़ावा देना और भारत में जैव चिकित्सा , चिकित्सा उपकरणों के उद्योग की व्यावसायीकरण प्रक्रिया में तेजी लाना है।

समावेशी परियोजना

यह परियोजना समावेशी विकास और भारत में प्रतिस्पर्धा बढ़ाने हेतु किफायती और अभिनव (innovative) हेल्थकेयर उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण कौशल और आधारभूत संरचना को विकसित कर अपना उद्देश्य हासिल करना चाहती हैं। परियोजना वर्तमान में भारत में अभिनव (innovative) बायोफर्मास्यूटिकल और चिकित्सा उपकरणों के उद्योग के विकास हेतु बाजार विफलताओं की समस्या को दूर करने के साथ साथ सार्वजनिक निजी और शैक्षिक संस्थानों के संघ का सहयोग करेगी। परियोजना प्रबंधन , निगरानी ,मूल्यांकन के लिए बाजार प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए परियोजना के घटक (components) पायलट-बाजार नवाचार तंत्र की स्थिति (pilot-to market innovation ecosystem ) को मजबूत कर रही हैं। परियोजना की समाप्ति तिथि जून 2023 रखी गयी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

टीसीएस भारत की पहली 100 बिलियन डॉलर की आईटी कंपनी बनी

टीसीएस भारत की पहली ऐसी कंपनी बन गई है जिसका बाजार पूंजीकरण (market capitalization) 100 अरब डॉलर के पार पहुंच गया है।बाजार पूंजीकरण उस कंपनी का मूल्य होता है जिसका शेयर बाजार में कारोबार किया जाता है जो वर्तमान शेयर मूल्य द्वारा कुल शेयरों को गुणा करके प्राप्त किया जाता है। इसने बाजार पूंजीकरण में $ 100 बिलियन के साथ 3,447 रुपये प्रति शेयर का स्तर पार किया, जो कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 66.2150 रुपये का वर्तमान मूल्य रखता है।

मुख्य तथ्य

इसके साथ, टीसीएस दुनिया के 100 सबसे मूल्यवान संगठनों की शूची में शामिल हो गया है और अब 97 वें स्थान पर है। टीसीएस ने आउटसोर्सिंग और कंसल्टेंसी विशाल एक्सेंचर (Accenture) को भी पीछे छोड़ दिया है, जिसकी बाजार क्षमता 98.20 अरब डॉलर है वर्तमान में 96 कंपनियां हैं जिनकी बाजार पूंजी $ 100 बिलियन है। 2007 में, मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की दूरसंचार-से-ऊर्जा समूह (the telecom-to-energy conglomerate) 100 अरब डॉलर के पार करने वाली पहली भारतीय कंपनी थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement