पर्यावरण एवं पारिस्थिकी करेंट अफेयर्स

ओजोन परत का सबसे बड़ा छिद्र स्वतः बंद हुआ

C3S (कॉपरनिकस क्लाइमेट चेंज सर्विस) और CAMS (कोपरनिकस एटमॉस्फियर मॉनिटरिंग सर्विस) ने पुष्टि की कि ओजोन परत का छिद्र स्वतः ही ठीक हो गया है।

मुख्य बिंदु

यह छिद्र आर्कटिक के ऊपर 1 मिलियन वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ था। इस छिद्र का निर्माण असामान्य जलवायु परिस्थितियों के कारण हुआ था।

यह छिद्र कैसे बंद हुआ?

इस छिद्र के बंद होने का मुख्य कारण ध्रुवीय भंवर है। वैज्ञानिकों के अनुसार COVID-19 लॉक डाउन होने के कारण प्रदूषण का स्तर कम होना इस छिद्र के बंद होने का कारण नहीं है।

यह ओजोन परत के इतिहास में पाया गया सबसे बड़ा छिद्र था। यदि यह छिद्र दक्षिण की ओर बढ़ा होता, तो इससे मध्य अक्षांशों में भयावह परिणाम उत्पन्न होते।

ध्रुवीय भंवर

ध्रुवीय भंवर एक सर्दियों में होने वाली घटना है। ध्रुवीय भंवर चक्रवाती वृत्ताकार हवाएँ हैं जो पश्चिम से पूर्व की ओर समताप मंडल में चलती हैं।

ओजोन परत

ओजोन परत पृथ्वी के समताप मंडल में एक किस्म की ढाल है जो सूर्य से हानिकारक यू.वी. विकिरण से ग्रह की रक्षा करती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

नासा: भारत में वायु प्रदूषण 20 साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंचा

22 अप्रैल, 2020 को नासा (नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) ने घोषणा की कि भारत में वायु प्रदूषण 20 साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है।

मुख्य बिंदु

नासा द्वारा प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, 2016 से 2019 के औसत की तुलना में 2020 में एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ सबसे कम रहा है। वायुमंडल में वायु में मौजूद कणों द्वारा प्रकाश के अवशोषण को एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ कहा जाता है। जब एरोसोल सतह के पास होते हैं, तो 1 या उससे ऊपर की ऑप्टिकल डेप्थ धुंधली स्थितियों का सूचक है। एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ 2016 में 0.7 थी और अब 0.1 तक पहुंच गयी है। इस पैटर्न का अवलोकन MODIS मॉडल द्वारा किया गया है। MODIS का पूर्ण स्वरुप Moderate Resolution Imaging Spectroradiometer  है।

एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ

एरोसोल वायुमंडल में कण होते हैं जो कि उद्योगों, वाहनों और प्राकृतिक घटनाओं जैसे धूल भरी आंधी, आग, आदि के कारण उत्पन्न होते हैं। वायुमंडल में एरोसोल्स की उपस्थिति वायुमंडल में पार्टिकुलेट मैटर से भी प्रभावित होती है।

एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ वायुमंडल में मौजूद एरोसोल का मात्रात्मक माप है। यह वायुमंडल से गुजरने पर प्रकाश के विलुप्त होने को मापता है। जैसे-जैसे एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ बढ़ती है, प्रकाश के विलुप्त होने की दर भी बढ़ जाती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement