अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

चीन के राष्ट्रपति को किर्गिजस्तान का सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को हाल ही में किर्गिजस्तान के सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार “मानस आर्डर ऑफ़ द फर्स्ट डिग्री” प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार बिश्केक में प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार 19वें शंघाई सहयोग संगठन के दौरान प्रदान किया गया। दरअसल शी जिनपिंग किर्गिजस्तान की राजकीय यात्रा पर हैं, इसके साथ-साथ उन्होंने शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लिया।

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ)

यह एक राजनीतिक और सुरक्षा समूह है जिसका मुख्यालय बीजिंग में है। रूस, चीन, किर्गिज गणराज्य, कजाखस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपतियों ने वर्ष 2001 में शंघाई में एक शिखर सम्मेलन में एससीओ की स्थापना की थी। यह 40% से अधिक मानवता एवं वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 20% हिस्से का प्रतिनिधित्व करता हैं। अफगानिस्तान, बेलारूस, ईरान और मंगोलिया वर्तमान में इसके पर्यवेक्षक है। वर्ष 2005 में भारत और पाकिस्तान को इस समूह के पर्यवेक्षकों के तौर पर शामिल किया गया था. दोनों देशों को वर्ष 2017 में पूर्ण सदस्य बनाया गया।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

विश्व निवेश रिपोर्ट 2019 : मुख्य बिंदु

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास कन्वेंशन (UNCTAD) ने विश्व निवेश रिपोर्ट 2019 जार की, इस रिपोर्ट के अनुसार 2018 में भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 6% की वृद्धि हुई। भारत 2017-18 में विश्व के सबसे अधिक प्रत्यक्ष निवेश प्राप्त करने वाले टॉप 20 देशों की सूची में शामिल है।

मुख्य बिंदु

भारत में 2018 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 6% की वृद्धि हुई और भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 42 अरब डॉलर पर पहुंचा। यह प्रत्यक्ष विदेशी निवेश विनिर्माण, वित्तीय सेवा सेक्टर, संचार तथा अधिग्रहण इत्यादि क्षेत्रों में सर्वाधिक किया गया।

दक्षिण एशिया में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश : दक्षिण एशिया में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 3.5% की वृद्धि हुई और यह 54 अरब डॉलर पर पहुंचा। दक्षिण एशिया क्षेत्र में 70 से 80% प्रत्यक्ष विदेशी निवेश भारत में किया जाता है। श्रीलंका में 1.6 अरब डॉलर तथा बांग्लादेश में 3.6 अरब डॉलर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश प्राप्त हुआ। पाकिस्तान में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 27% की कमी आई और यह 2.4 अरब डॉलर पर पहुंचा गया।

संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास कन्वेंशन (UNCTAD)

इसकी स्थापना 1964 में एकीकृत व्यापार व विकास के उद्देश्य से की गयी थी। यह संयुक्त राष्ट्र महासभा का अंग है। वर्तमान में इसमें 195 सदस्य हैं। इसका प्रमुख कार्य विकासशील देशों में व्यापार, निवेश तथा विकास अवसरों को बढ़ावा देना है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement