अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

रूस ने अपने पहले स्टेल्थ बॉम्बर विमान का निर्माण किया

रूस ने अपने पर्सपेक्टिव एविएशन कॉम्प्लेक्स फॉर लॉन्ग रेंज एविएशन (PAKDA) प्रोग्राम के तहत अपना पहला स्टेल्थ बॉम्बर विमान बनाया है।

मुख्य बिंदु

रूस वर्तमान में अपनी सेना का बहुत तेज गति से आधुनिकीकरण कर रहा है। स्टेल्थ बॉम्बर ऐसी ही एक उन्नति है। यह बमवर्षक विमान सुखोई Su-57 सुपरसोनिक फाइटर जेट के बाद दूसरी पीढ़ी का लड़ाकू विमान है।

PAKDA

इस स्टेल्थ बॉम्बर विमान का निर्माण PAKDA कार्यक्रम के तहत किया गया है। PAKDA कार्यक्रम रडार सिग्नेचर को कम करने के लिए नवीनतम तकनीकों का उपयोग करता है। यह रूसी हथियारों और बमवर्षकों को दुश्मनों के लिए अदृश्य बना देगा। PAKDA बॉम्बर की पहली परीक्षण उड़ान 2021-22 में आयोजित की जाएगी।

भारत रूस के सबसे बड़े रक्षा साझेदारों में से एक है।

भारत-रूस

भारत और रूस ने फरवरी, 2020 में 14 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। यह कार्य DefExpo 2020 के दौरान किया गया था। इसमें S400 मिसाइलों का उत्पादन, कामोव हेलीकॉप्टरों और कलाश्निकोव राइफलों का उत्पादन शामिल है।  रक्षा सौदे में सक्रिय प्रतिभागियों में एचएएल, डीआरडीओ, बीएचईएल आदि शामिल हैं। यह सौदा 16 बिलियन डालर का है। भारत रूस से Ka-226 हेलीकॉप्टर खरीदेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

भारत ने न्यू डेवलपमेंट बैंक गवर्नर बैठक में हिस्सा लिया

27 मई, 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से न्यू डेवलपमेंट बैंक के विशेष बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की बैठक में शामिल हुईं।

मुख्य बिंदु

जिन नेताओं ने बैठक में भाग लिया उन्होंने न्यू डेवलपमेंट बैंक के अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष का चुनाव किया। इस बैंक ने अब तक अपने सदस्य देशों में 55 से अधिक परियोजनाओं के लिए 16.6 बिलियन डालर की मंजूरी की है।  ब्राजील के मार्कोस ट्रायजो को बैठक में अध्यक्ष  के रूप में चुना गया है।

न्यू डेवलपमेंट बैंक

इस बैंक की स्थापना 2014 में ब्रिक्स के सदस्य देशों रूस, ब्राजील, भारत, दक्षिण अफ्रीका और चीन द्वारा की गई थी। यह बुनियादी ढांचे और सतत विकास परियोजनाओं के लिए संसाधन जुटाता है। यह वैश्विक विकास को बढ़ाने के लिए, क्षेत्रीय और बहुपक्षीय वित्तीय संस्थानों के प्रयासों को पूरा करने के लिए काम करता है। यह सार्वजनिक और निजी दोनों परियोजनाओं का समर्थन करता है। इस बैंक की प्रारंभिक अधिकृत पूंजी 100 बिलियन अमरीकी डालर थी।

अब तक न्यू डेवलपमेंट बैंक ने 4,183 मिलियन  डालर की 14 भारतीय परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इस बैंक ने विश्व बैंक, एशियाई विकास बैंक और एशियाई बुनियादी ढांचा निवेश बैंक के साथ रणनीतिक सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement