अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

भारत ने विश्व स्वास्थ्य सभा में भाग लिया

विश्व स्वास्थ्य सभा, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की निर्णय लेने वाली संस्था है। विश्व स्वास्थ्य सभा में भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया। COVID-19 के अलावा, विश्व स्वास्थ्य सभा ने ग्लोबल वैक्सीन प्लान, पोलियो उन्मूलन और उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोगों को संबोधित किया।

चीन और COVID-19

लगभग 120 देशों ने COVID-19 की उत्पत्ति के बारे में चीन से जांच कराने के प्रस्ताव का समर्थन किया।  ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने COVID-19 पर जांच शुरू की। हालांकि चीन ने जांच का विरोध किया।

भारत की अध्यक्षता

इसके साथ ही भारत को विश्व स्वास्थ्य सभा के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने की उम्मीद है। भारत, जापान का स्थान लेगा।

अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियमन समिति

सदस्य देशों ने विश्व संगठन फॉर एनिमल हेल्थ के साथ खाद्य और कृषि संगठन के साथ मिलकर काम करने पर सहमति व्यक्त की है। यह समिति संभावित होस्ट का पता लगाने के लिए वायरस के संचरण मार्गों पर काम करेगी। यह समिति ऐसे समाधानों की भी तलाश करेगी जो भविष्य में इस तरह के महामारी के प्रकोप को रोकने में मदद करेंगे।

इस सभा में भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया, उन्होंने COVID -19 के खिलाफ लड़ने के लिए भारत द्वारा उठाए जा रहे विभिन्न उपायों को सूचीबद्ध किया।

विश्व स्वास्थ्य सभा

विश्व स्वास्थ्य सभा विश्व में सर्वोच्च स्वास्थ्य नीति स्थापित करने वाली संस्था है। इसमें मुख्य रूप से स्वास्थ्य मंत्री शामिल है। इस सभा के सदस्य हर साल मई के महीने में जिनेवा में मुलाकात करते हैं। विश्व स्वास्थ्य सभा, विश्व स्वास्थ्य संगठन के कामों को मंजूरी देती है और अपने बजट और महानिदेशक का चुनाव भी करती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

अमेरिका भारत को वेंटीलेटर प्रदान करेगा

अमेरिका ने हाल ही में घोषणा की कि वह भारत को वेंटिलेटर प्रदान करेगा। इस घोषणा को भारत द्वारा मलेरिया-रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात से प्रतिबंध हटाने  के पारस्परिक संकेत के रूप में देखा जा रहा है।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन

भारत ने हाल ही में HCQ दवाओं पर निर्यात प्रतिबंध हटा दिया। इससे अमेरिका को काफी हद तक फायदा हुआ। अमेरिका COVID-19 से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक है। इसके बाद लगभग 50 मिलियन HCQ टैबलेट अमेरिका को निर्यात की गयी थी।

हालांकि, हाल के अध्ययनों से पता चल रहा है कि गंभीर रूप से बीमार रोगियों में दवा की प्रभावकारिता कम है। फ्रांस और चीन में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, दवा यादृच्छिक नियंत्रित परीक्षणों में विफल रही।

अमेरिका और चीन दोनों ने अपने राष्ट्रीय दिशानिर्देशों के तहत इस दवा के उपयोग की सिफारिश की थी।

भारत में एच.सी.क्यू

ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने “प्रोफ़ाइलेक्टिक उपचार” में दवा की सिफारिश की थी।

WHO में HCQ

डब्लूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा किए जा रहे चार मेगा परीक्षणों में से एक में एचसीक्यू को शामिल किया गया है। इसमें HCQ, Lopinavir और Ritonavir, Lopinavir और Ritonavir के साथ Interferon, Remdesivir शामिल हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement