अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

विश्व थैलेसीमिया दिवस : 8 मई

प्रतिवर्ष 8 मई को विश्व थैलेसीमिया दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष विश्व थैलेसीमिया दिवस की थीम “The dawning of a new era for thalassaemia: Time for a global effort to make novel therapies accessible and affordable to patients” है। इसका उद्देश्य थैलेसीमिया (एक आनुवंशिक रोग) के बारे में जागरूकता फैलाना है तथा इसकी रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाना है।

थैलेसीमिया क्या है?

थैलेसीमिया एक रक्त सम्बन्धी आनुवंशिक विकार है। इस रोग के कारण हीमोग्लोबिन की कमी तथा रक्त कोशिकाओं की कमी होती है। थैलेसीमिया किसी व्यक्ति को तभी हो सकता है जब उसके माता-पिता में कोई एक थैलेसीमिया से पीड़ित हो।

आनुवंशिक प्रभाव तथा कुछ एक आवश्यक जीन फ़्रैगमेन्ट्स की अनुपस्थिति के कारण थैलेसीमिया होता है। मरीज़ में हीमोग्लोबिन की कमी के कारण शरीर में ऑक्सीजन का परिवहन भी कम होता है तथा लाल रक्त कोशिकाएं नष्ट होती है जिस कारण अनीमिया (रक्ताल्पता) होता है। इससे शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ जाती है। कई मामलों में मरीज़ की हड्डियों में विकार तथा दुर्लभ मामलों में ह्रदय रोग का खतरा भी रहता है।

थैलेसीमिया से पीड़ित व्यक्ति की त्वचा हल्की पीली हो जाती है। थैलेसीमिया से पीड़ित व्यक्ति को विकास में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, थैलेसीमिया से मरीज़ को काफी अधिक थकान भी महसूस होती है। आनुवंशिक रोग होने के कारण इसकी रोकथाम बहुत मुश्किल है, ब्लड टेस्ट के द्वारा इस रोग का पता लगाया जा सकता है।

थैलेसीमिया का खतरा किसे अधिक होता है?

थैलेसीमिया का खतरा उन लोगों को काफी अधिक होता है जिनके परिवार में पहले से किसी को थैलेसीमिया हो। यह रोग भूमध्यसागरीय लोगों (इतालवी, यूनानी तथा मध्यपूर्वी) तथा दक्षिण एशियाई लोगों में अधिक होता है।

उपचार

इसका उपचार रक्त आधान (blood transfusion) तथा Chelation Therapy द्वारा किया जा सकता है। बच्चों में इसका उपचार बोन मेरो ट्रांसप्लांट द्वारा किया जा सकता है। परन्तु इसके कुछ एक लक्षण बाल्यावस्था तथा किशोरावस्था के बाद दिखाई देते हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

ईरान ने मुद्रास्फीति से निपटने के लिए नई मुद्रा की शुरुआत

ईरान सरकार हाल ही में अपनी मुद्रा का नाम बदलकर टोमन करने के निर्णय लिया है। ईरानी मुद्रा की इकाई रियाल है। ईरानी सरकार के अनुसार, एक टोमन 10,000 रियाल से मिलकर बनता है।

मुख्य बिंदु

घेरन एक अन्य मुद्रा इकाई है। 100 घेरन से एक टोमन बनता है। नई प्रणाली को हाल ही में ईरानी संसद द्वारा देश में उच्च मुद्रास्फीति का प्रबंधन करने के लिए अधिकृत किया गया है। टोमन बनाने के लिए, पुराने करेंसी नोटों में से चार शून्य को हटा दिया गया है। रियाल अभी भी वैध रहेगा।

मुद्रा का अवमूल्यन

ईरानी मुद्रा को चार प्रमुख बिंदुओं के दौरान अवमूल्यन का सामना करना पड़ा  :

  • 1979 की इस्लामिक क्रांति। 1979 में पश्चिम-समर्थित शाह की सरकार गिरने के बाद कई उद्यमी और कारोबारी दिग्गज देश छोड़कर चले गए थे।
  • 1989 में ईरान-इराक युद्ध का अंत। युद्ध समाप्त होने के बाद, ईरान को अपनी बिखरती अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण में 8 साल लग गए। इस समय के दौरान डॉलर के मुकाबले रियाल का मूल्य लगभग 100% कम हो गया था।
  • राष्ट्रपति अहमदीनेजाद का कार्यकाल। उनके शासनकाल के दौरान ईरान को अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों का सामना करना पड़ा था। इस दौरान वैश्विक बाजार में रियाल ने अपना 400% मूल्य खो दिया था। 2013 में अहमदीनेजाद ने अपनी सत्ता छोड़ दी।
  • अमेरिका का परमाणु समझौते से अलग होना। यह ईरानी मुद्रा के लिए सबसे भारी झटका था। इसके कारण ईरान की मुद्रा अमेरिकी डॉलर की तुलना में 600% कमजोर हो गई।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement