राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

COVID-19: विश्व बैंक ने भारत के इमरजेंसी रिस्पांस प्रोजेक्ट के लिए 1 बिलियन डॉलर की पेशकश की

1 अप्रैल, 2020 को विश्व बैंक ने घोषणा की कि  Covid-19 Emergency Response and Health Systems preparedness project के क्रियान्वयन के लिए भारत सरकार को 1 बिलियन डालर की की पेशकश की है।

मुख्य बिंदु

वायरस द्वारा उत्पन्न खतरों को कम करने के लिए भारत द्वारा यह परियोजना शुरू की जा रही है। इससे राष्ट्रीय प्रणाली को मजबूत होगी और देश में सार्वजनिक स्वास्थ्य तैयारियों बेहतर होंगी। इस प्रोजेक्ट को 4 वर्ष तक चलाया जायेगा। इस प्रोजेक्ट की फंडिंग विश्व बैंक की COVID-19 फास्ट ट्रैक फैसिलिटी से की जायेगी।

परियोजना की मुख्य विशेषताएं

इस परियोजना के द्वारा COVID-19 मामलों की रोकथाम के प्रमुख संकेतकों की प्रगति को मापा जाएगा। इसमें प्रयोगशाला की पुष्टि के मामलों का अनुपात, 48 घंटों के समय के भीतर नमूने एकत्र करने की प्रतिक्रियाएं, COVID​​-19 का निर्धारण करने के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित मानक समय के भीतर परीक्षण करना आदि शामिल हैं।

प्रोजेक्ट दस्तावेज के अनुसार भारत सरकार ने यह आकलन किया है कि आने वाले वर्षों में इस वायरस का प्रकोप जारी रहेगा। इसलिए, बीमारी की अगली लहर से निपटने के लिए दीर्घकालिक रणनीति पर काम करना आवश्यक है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month: /

Tags: , , , ,

1 अप्रैल : भारतीय रिज़र्व बैंक का स्थापना दिवस

1 अप्रैल को भारतीय रिज़र्व बैंक का स्थापना दिवस मनाया गया। भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल 1935 को भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना हुई थी। शुरू में रिज़र्व बैंक का केंद्रीय कार्यालय कोलकाता में स्थापित किया गया था लेकिन 1937 में स्थायी रूप से इसे मुंबई में हस्तांतरित कर दिया गया था। केंद्रीय कार्यालय वह स्थान है, जहां गवर्नर बैठता है तथा जहां नीतियां तैयार की जाती हैं। 1949 मे राष्ट्रीयकरण के बाद से रिज़र्व बैंक पूरी तरह से भारत सरकार के स्वामित्व में है।

भारतीय रिज़र्व बैंक के प्राथमिक कार्य

  • विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 को प्रबंधित करना
  • मौद्रिक नीति तैयार करना, कार्यान्वयन और निगरानी करना
  • बैंकिंग संचालन के मापदंडों को निर्धारित करना
  • केन्द्रीय और राज्य सरकार के लिए मर्चेंट बैंकिंग फ़ंक्शन

भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने 83 वर्षों के प्रयासों में आधुनिक बैंकिंग प्रथाओं के साथ ठोस क्रेडिट संरचना बनाने में एक प्रशंसनीय सेवा की है। ब्याज दरों की स्थिर संरचना, रुपए के विनिमय मूल्य में स्थिरता, सस्ती प्रेषण सुविधाएं, सार्वजनिक ऋण का सफल प्रबंधन, ध्वनि बिल बाजार का विकास और ऋण के तर्कसंगत आवंटन, विभिन्न वर्षों में बैंकरों के बैंक रिजर्व बैंक की कुछ उपलब्धियां हैं, जिसने न केवल इसमें योगदान दिया है बल्कि आर्थिक विकास पर भी बैंकिंग क्षेत्र में सार्वजनिक विश्वास को बढ़ाया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement