राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

ICMR अध्ययन : भारत 2030 तक एड्स सम्बन्धी लक्ष्य को हासिल करने से चूक सकता है

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने चेतावनी दी है कि भारत के 2030 तक देश में एड्स को समाप्त करने के राष्ट्रीय लक्ष्य से चूकने की संभावना है। परिषद के अनुसार, यह मुख्य रूप से COVID-19 के कारण कई स्वास्थ्य कार्यक्रमों की रुकी हुई प्रगति के कारण है।

 

मुख्य बिंदु

ICMR के अनुसार, 2010 और 2017 के बीच वार्षिक नए एचआईवी संक्रमणों की वार्षिक गिरावट 27% थी। नए लक्ष्य के तहत, भारत सरकार ने 2020 तक देश में एड्स को 75% तक कम करने का इरादा किया है। यह अत्यधिक महत्वाकांक्षी लगता है और अब COVID-19 संकट के साथ चुनौतीपूर्ण हो गया है।

अध्ययन

अध्ययन के अनुसार 2017 में पुरुष में एचआईवी का राष्ट्रीय वयस्क प्रसार 0.22% था। मणिपुर, मिजोरम और नागालैंड राज्यों में 1% से अधिक का प्रचलन था। 2017 में एड्स से प्रभावित लोगों की संख्या 2.1 मिलियन थी। महाराष्ट्र में यह संख्या सबसे अधिक है।अकेले 2017 में, देश में 88,000 वार्षिक नए एड्स के मामले सामने आए। देश में एड्स के कारण मरने वालों की संख्या सालाना 69,000 है।

राज्यवार आंकड़े

सबसे अधिक एचआईवी वाले लोग महाराष्ट्र (0.33 मिलियन), आंध्र प्रदेश (0.27 मिलियन), कर्नाटक (0.24 मिलियन) में हैँ। अन्य राज्य जिनमें एड्स संक्रमित मामलों की संख्या सबसे अधिक थी, वे थे पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, तमिलनाडु, बिहार और उत्तर प्रदेश। इन राज्यों में 0.2 से 0.1 मिलियन मरीज हैँ।

अध्ययन कहता है कि असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और उत्तराखंड के कम बोझ वाले राज्यों में नए संक्रमण बढ़ रहे हैं।

लक्ष्य

भारत में महत्वपूर्ण लक्ष्य निर्धारित किए गए थे जैसे कि माँ से बच्चे के संक्रमण (पीएमटीसीटी) को रोकना। लक्ष्य 2020 तक प्राप्त किया जाना है। तेलंगाना, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में अपेक्षाकृत अधिक पीएमटीसीटी था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

DRDO ने “डेयर टू ड्रीम” चैलेंज लॉन्च किया

रक्षा अनुसंधान विकास संगठन ने एक अभिनव प्रतियोगिता “डेयर टू ड्रीम” शुरू की। प्रतियोगिता का शुभारंभ डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर किया गया।

मुख्य बिंदु

डेयर टू ड्रीम एक ओपन चैलेंज है जो देश में इनोवेटर्स और स्टार्ट अप्स को बढ़ावा देती है। इसे उभरती प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देने के लिए लॉन्च किया गया है। यह चुनौती व्यक्तियों और स्टार्टअप्स को  एयरोस्पेस प्रौद्योगिकियों में नवाचार के लिए बढ़ावा देती है।विजेताओं के लिए पुरस्कार राशि 10 लाख रुपये तक है। प्रतियोगिता का शुभारंभ रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने किया।

डाक्टर ए.पी.जे. अब्दुल कलाम

27 जुलाई, 2015 को भारतीय प्रबंधन संस्थान, शिलांग में व्याख्यान देते समय कार्डियक अरेस्ट के कारण डॉ. कलाम का निधन हो गया था। उन्होंने 2002 और 2007 के बीच भारत के राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। उनके कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और मनमोहन सिंह थे। उन्होंने 1998 में भारत द्वारा आयोजित पोखरण -2 परमाणु परीक्षण में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी। वह सैन्य मिसाइल विकास प्रयासों में बड़े पैमाने पर शामिल थे और इसलिए उन्हें “भारत का मिसाइल मैन” कहा जाता था।

डॉ. कलाम ने 40 विश्वविद्यालयों से 7 मानद डॉक्टरेट प्राप्त किए थे। भारत सरकार ने 1990 में पद्म विभूषण और 1981 में पद्म भूषण से उन्हें सम्मानित किया। 1997 में उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न मिला।

तमिलनाडु राज्य सरकार ने डॉ. कलाम की जयंती को “युवा पुनर्जागरण दिवस” ​​के रूप में चिह्नित किया है। ओडिशा में राष्ट्रीय मिसाइल परीक्षण स्थल व्हीलर द्वीप का नाम बदलकर सितंबर 2015 में अब्दुल कलाम द्वीप रखा गया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement