राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

एडीबी ने COVID-19 से लड़ने के लिए भारत को 1.5 बिलियन डालर की मंजूरी दी

28 अप्रैल, 2020 को एशियाई विकास बैंक ने COVID-19 संकट के प्रसार को रोकने के लिए भारत को 1.5 बिलियन डालर के ऋण को मंजूरी दी। इस कोष का उपयोग रोग नियंत्रण, सामाजिक संरक्षण और बीमारी की रोकथाम में किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

एडीबी द्वारा स्वीकृत ऋण का उपयोग आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों और गरीबों के सामाजिक संरक्षण के लिए किया जायेगा। हाल ही में, एडीबी ने भारत के लिए 2.2 बिलियन अमरीकी डालर के सहायता पैकेज को मंजूरी दी थी। एडीबी के अलावा, एआईआईबी (एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक) ने अपनी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को मजबूत करने के लिए भारत को 500 मिलियन अमरीकी डालर आवंटित किए थे। विश्व बैंक ने भी भारत को 1 बिलियन अमरीकी डालर की सहायता की घोषणा की है।

वित्तीय सहायता प्राप्त करने के लिए भारत ने पहले ADB, AIIB और अन्य विश्व मौद्रिक संस्थानों से संपर्क किया था।

एआईआईबी

एआईआईबी ने 2016 में अपना परिचालन शुरू किया। इसका उद्देश्य स्वास्थ्य देखभाल दबावों को कम करना, तरलता समर्थन और क्रेडिट लाइनें प्रदान करना और अंत में सरकारों को बजटीय सहायता प्रदान करना है।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

एनटीपीसी ने हाइड्रोजन ईंधन बस और कार लांच की

नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन ने हाल ही में दस हाइड्रोजन ईंधन सेल आधारित बस और 10 इलेक्ट्रिक कारें लॉन्च की है।

मुख्य बिंदु

इन बसों और कारों को नई दिल्ली और लेह में लॉन्च किया गया है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए भी इसी तरह के प्रस्ताव पर कार्य किया जा रहा है।

अन्य पहलें

एनटीपीसी सार्वजनिक परिवहन के लिए ई-मोबिलिटी समाधान प्रदान करने के लिए कई ऐसी पहलों का क्रियान्वयन कर रहा है। इसमें राज्य और शहर परिवहन प्रणालियों को चार्जिंग बुनियादी ढाँचा और इलेक्ट्रिक बस प्रदान करना शामिल है।  एनटीपीसी ने अब तक फरीदाबाद शहर में और उसके आसपास 90 सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन शुरू किए हैं।

हाइड्रोजन ईंधन सेल

हाइड्रोजन ईंधन सेल, हाइड्रोजन ईंधन को बिजली में बदलने के लिए रासायनिक प्रक्रिया का उपयोग करता हैं। ईंधन सेल का मुख्य लाभ यह है कि उन्हें अक्सर चार्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है। जब तक ईंधन उपलब्ध है, वे बिजली का उत्पादन करते रहते हैं।

हाइड्रोजन ईंधन सेल में, हाइड्रोजन को एनोड के माध्यम से, ऑक्सीजन को कैथोड के माध्यम से पारित किया जाता है। एनोड पर हाइड्रोजन अणु प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉनों में विभाजित होते हैं। इन प्रोटॉन को इलेक्ट्रोलाइट झिल्ली से होकर गुजरता है। यह इलेक्ट्रॉन को विद्युत प्रवाह उत्पन्न करने के लिए सर्किट में जाने के लिए बाध्य  करता है।

लाभ

हाइड्रोजन ईंधन कोशिकाओं के प्रमुख लाभों में उच्च दक्षता, शून्य से कम उत्सर्जन, ईंधन लचीलापन, शांत संचालन, स्थायित्व और ऊर्जा सुरक्षा शामिल हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement