राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

आईएनएसवी तारिणी : नौसेना का महिला दल विश्व परिक्रमा कर स्वदेश लौटा

भारतीय नौसेना की जाबांज महिलाओं का दल लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी के नेतृत्व समुद्र की उठती-गिरती लहरों को 254 दिनों तक अपनी छोटी सी नौका से भेदते हुए पूरे विश्व का भ्रमण कर सोमवार को भारत लौट आया. इस दल में लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, पी स्वाति और लेफ्टिनेंट ए विजया देवी, बी ऐश्वर्य तथा पायल गुप्ता शामिल थीं. इनके अभियान को ‘नाविका सागर परिक्रमा’ नाम दिया गया था.

मुख्य तथ्य

स्वदेशी छोटी पाल नौका आईएनएस तारिणी पर सवार लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी के नेतृत्व में छह अधिकारियों के दल को रक्षा मंत्री ने पिछले साल 10 सितंबर को गोवा से रवाना किया था.
छोटी पाल नौका में समुद्र के रास्ते दुनिया का चक्कर लगाने निकले दल ने अपने 8 महीने से ज्यादा चले साहसिक अभियान के दौरान ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और मॉरीशस होते हुए पांच चरणों मे अपना अभियान पूरा किया.
दल ने पांच देशों, चार महाद्वीपों और तीन महासागरों को पार करते हुए कुल 21 हजार 600 समुद्री मील का सफर तय किया.

आईएनएस तारिणी – देश में निर्मित यह एक 56 फीट का समुद्री जहाज है, जिसे मेक इन इंडिया अभियान के तहत निर्मित किया गया है.

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

ब्रह्मोस मिसाइल का सेवा अवधि विस्‍तार हेतु सफल परीक्षण किया गया

21 मई 2018 को भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का पहला सफल परीक्षण किया. इसे भारत-रूस के साझा उपक्रम से तैयार किया गया है.इस परीक्षण का मुख्य उद्देश्य इस मिसाइल की कार्यअवधि को 10 से 15 वर्षों तक बढ़ाना था. ओडिशा तट पर चांदीपुर में डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के अनुसार एकीकृत टेस्ट रेंज (ITR) में मौजूद मोबाइल लॉन्चर से मिसाइल का परीक्षण किया गया था.

ब्रह्मोस मिसाइल

ब्रह्मोस एक सुपर सोनिक क्रूज मिसाइल है. जिसे भारत-रूस के द्वारा एक साथ तैयार किया गया है. यह मिसाइल 300 किग्रा. वजन तक विस्फोटक ढोने तथा 350 किमी. तक मार करने की क्षमता रखती है. यह मिसाइल ध्वनि की गति से भी 2.8 गुना तेज जाने की क्षमता रखती है. पानी के जहाज, हवाई जहाज, जमीन एवं मोबाइल लंचर से इस मिसाइल को छोड़ा जा सकता है. मिसाइल की खासियत यह है कि इसे चलाये जाने के बाद यह खुद-ब-खुद ऊपर और नीचे की उड़ान भरकर जमीन के लक्ष्यों को भेदने में सक्षम है. इस तरह यह दुश्मन के वायु रक्षा प्रणालियों से बच निकलती है.

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement