व्यक्तिविशेष करेंट अफेयर्स

26 फरवरी को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की पुण्यतिथि के रूप में मनाया गया

26 फरवरी को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की पुण्यतिथि के रूप में मनाया गया।

विनायक दामोदर सावरकर (1883-1966)

  • विनायक दामोदर सावरकर को वीर सावरकर के नाम से जाना जाता था, उनका जन्म 28 मई, 1883 को महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था।
  • वे एक स्वतंत्रता सेनानी थे, उन्होंने 1887 की क्रांति को स्वतंत्रता का प्रथम युद्ध कहा था।
  • उन्होंने पुणे में अभिनव भारत सोसाइटी नामक संगठन की थी लन्दन में उन्होंने फ्री इंडिया सोसाइटी का गठन किया।
  • विनायक दामोदर सावरकर ने “जोसफ मैजिनी – जीवन कथा व राजनीती” नामक पुस्तक लिखी। उन्होंने 1857 की क्रान्ति पर “द इंडियन वॉर ऑफ़ इंडिपेंडेंस” नामक पुस्तक का प्रकाशन किया था। इसके अलावा उन्होंने रत्नागिरी में कैद के दौरान “हिंदुत्व – हु इस हिन्दू” नामक पुस्तक भी लिखी।
  • हालांकि वे हिन्दू महासभा के संस्थापक नही थे, परन्तु वे 1937 से 1943 के बीच हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रहे।
  • वीर सावरकर ने भारत को “हिन्दू राष्ट्र” के रूप में एक निर्मित किये जाने का समर्थन किया, उन्होंने राष्ट्रवादी राजनीतिक विचारधारा “हिंदुत्व” के विकास किया।
  • उनके सम्मान में अंडमान व निकोबार के पोर्ट ब्लेयर के हवाईअड्डे का नाम वीर सावरकर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा रखा गया है।28 मई को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की जन्म वर्षगाँठ के रूप में मनाया गया

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

आज मनाई जा रही है छत्रपति शिवाजी की जयंती

आज (19 फरवरी) को महान मराठा शासक छत्रपति  शिवाजी महाराज की जयंती मनाई जा रही है। महाराष्ट्र में 19 फरवरी को छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्मदिन भव्य पैमाने पर मनाया जाता है।

छत्रपति शिवाजी

शिवाजी का जन्म 19 फरवरी, 1630 में शिवनेरी किले में, जीजाबाई और शाहजी भोंसले के घर हुआ था। शिवाजी एक महान नेता और मराठा राष्ट्र के निर्माता थे। उन्होंने सभी बाधाओं के खिलाफ दक्कन में हिंदू राज्य की स्थापना की, जो शक्तिशाली मुगल के खिलाफ लड़ रहे थे। उन्होंने जन मानस  को मुगल शासक औरंगजेब के अत्याचार के खिलाफ लड़ने के लिए प्रेरित किया और एकजुट किया, उनमें गर्व और राष्ट्रीयता की भावना पैदा की।

उन्होंने प्रभावी नागरिक और सैन्य प्रशासन के साथ अपने राज्य को स्थिर किया। वह अपने राज्य में सभी धर्मों और संप्रदायों के प्रति सहिष्णु थे। उन्होंने राजस्व संग्रह में प्रणालियों की शुरुआत की।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement