विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी करेंट अफेयर्स

स्पेस एक्स की पहली मानवयुक्त अंतरिक्ष उड़ान ख़राब मौसम के कारण स्थगित की गयी

नासा के लिए स्पेस एक्स की ऐतिहासिक पहली मानवयुक्त अंतरिक्ष उड़ान 27 मई को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना होने वाली थी। अब इस मिशन को ख़राब मौसम के कारण शनिवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इस मिशन को डेमो-2 कहा जाता है और यह नासा के दो अंतरिक्ष यात्रियों बॉब बेहेनकेन और डग हर्ले को इस कक्षा में लॉन्च करेगा। स्पेस एक्स के क्रू ड्रैगन अंतरिक्ष यान का उपयोग एक फाल्कन 9 रॉकेट का उपयोग किया जायेगा। 2011 से, नासा ने अपने सभी अंतरिक्ष यात्रियों को रूस के सोयूज कैप्सूल के माध्यम से भेजा है।

स्पेस एक्स

स्पेस एक्स एक निजी अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी है। इसकी स्थापना एलोन मस्क द्वारा 6 मई, 2002 को की गयी थी। एलोन मस्क स्पेस एक्स के वर्तमान सीईओ हैं। इस अन्तरिक्ष एजेंसी की स्थापना का प्रमुख उद्देश्य अन्तरिक्ष परिवहन की लागत कम करना तथा मंगल गृह पर मानव बस्ती की स्थापना करना है। स्पेस एक्स ने फाल्कन रॉकेट्स की श्रृंखला तैयार की है। अंतिरक्ष परिवहन की लागत को कम करने के लिए स्पेस एक्स ने री-यूजेबल रॉकेट्स (पुनः इस्तेमाल किये जा सकने वाले राकेट) निर्मित किये हैं। इन रॉकेट्स के अधिकत्तर हिस्सों को अन्य लांच में भी इस्तेमाल किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

डब्ल्यूएचओ ने नया टीका विकसित करने के लिए “ह्यूमन चैलेंज ट्रायल” को अपनाया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में आठ उम्मीदवारों के मानव परीक्षण में प्रवेश करने की घोषणा की है। कई लोग ‘ह्यूमन चैलेंज ट्रायल’ में भाग लेने के लिए आगे आये हैं।

ह्यूमन चैलेंज ट्रायल क्या है?

इस परीक्षण में वालंटियर को COVID-19 वायरस के साथ संक्रमित किया जाता है। यह टीका विकास की प्रक्रिया को गति देने के लिए किया जाता है।

टीके का विकास

टीके का विकास नैदानिक ​​परीक्षणों के तीन चरणों के माध्यम किया जाता है, इसे विकसित होने में कई साल लगते हैं।

चरण 1: इस चरण के दौरान लोगों के छोटे समूह टीका प्राप्त करते हैं

चरण 2: वैक्सीन उन लोगों को दी जाती है जिनकी विशेषताएं उन लोगों के समान होती हैं जिनके लिए नया वैक्सीन बनाया जा रहा है।

चरण 3: सुरक्षा और प्रभावकारिता का परीक्षण करने के लिए टीका हजारों को दिया जाता है। इस चरण के दौरान, प्रतिभागियों को या तो प्लेसीबो या टीका प्राप्त होता है।

ह्यूमन चैलेंज ट्रायल नया नहीं है। इससे पहले, मलेरिया के लिए भी इसी तरह के परीक्षण किए गए थे।

लाभ

ह्यूमन चैलेंज ट्रायल का मुख्य लाभ यह है कि यह परीक्षण को तेज करता है। कई प्रभावकारी टीके अधिक तेज़ी से उपलब्ध होंगे। साथ ही, इन परीक्षणों के चरण 3 में आवश्यक लोगों की संख्या नियमित परीक्षणों से कम है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement