विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी करेंट अफेयर्स

एंड्राइड 10: गूगल ने की एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के नए संस्करण की घोषणा

अमेरिकी कंपनी गूगल ने एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के नए संस्करण की घोषणा कर दी है, इस नए संस्करण का नाम “एंड्राइड 10” रखा गया है। इससे पहले एंड्राइड के संस्करणों का नाम खाद्य वस्तुओं के नाम पर रखा जाता था। इसका कोडनाम “एंड्राइड क्यू” है। इसे 3 सितम्बर, 2019 को रिलीज़ किया जायेगा।

नए फीचर

  • लाइव कैप्शन : एंड्राइड 10 में लाइव कैप्शन की सुविधा उपलब्ध होगी, डिवाइस में कुछ प्ले करते समय रियल-टाइम कैप्शन दिखाई देंगे।
  • वाई-फाई शेयरिंग : एंड्राइड 10 में QR कोड के द्वारा वाई-फाई शेयरिंग की जा सकती है।
  • डार्क मोड – नए एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम में डार्क मोड फीचर भी मिलेगा, जो बैटरी की बचत करने में उपयोगी होता है।
  • प्राइवेसी : एंड्राइड 10 में किसी एप्प को यूजर की फ़ोन स्क्रीन की सामग्री एक्सेस करने से रोका जायेगा, इसके लिए अतिरिक्त अनुमति की आवश्यकता होगी।
  • जेस्चर : एंड्राइड 10 में नेविगेशन के लिए स्वाइप इत्यादि जैसे जेस्चर का उपयोग किया जायेगा।

एंड्राइड

एंड्राइड एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है, इसका विकास गूगल द्वारा किया जाता है, यह लिनक्स कर्नल का रूपांतरित स्वरुप है। अब एंड्राइड का उपयोग टीवी (एंड्राइड टीवी), कारों में (एंड्राइड ऑटो) तथा वेरेबल गैजेट (वियर ओएस) में किया जाता है। गूगल ने एंड्राइड को वर्ष 2005 में खरीदा था। एंड्राइड के पुराने संस्करणों के नाम इस प्रकार हैं : जिंजरब्रेड, आइसक्रीम सैंडविच, जेली बीन, किटकैट, लोलीपॉप, मार्शमैलो, नौगट, ओरियो तथा पाई।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

रूस ने “फेडोर” नामक रोबोट को अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS) के लिए भेजा

रूस ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन के लिए कजाखस्तान के बैकोनुर से एक राकेट लांच किया है, इस राकेट में “फेडोर” नामक रोबोट को भेजा गया है। यह रूस द्वारा अन्तरिक्ष में भेजा गया पहला रोबोट है। “फेडोर” की ऊंचाई एक मीटर 80 सेंटीमीटर है (5 फीट 11 इंच) । इसका भार 160 किलोम्ग्राम है। इस रोबोट का उपयोग नई आपातकालीन बचाव प्रणाली का परीक्षण करना है। अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन में 10 दिन तक “फेडोर” नए कौशल सीखेगा, यह इलेक्ट्रिक केबल को स्क्रूड्राइवर की सहायता से कनेक्ट तथा डिसकनेक्ट करने जैसे कार्य भी करेगा।

अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS)

अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS) पृथ्वी की निम्न कक्षा में एक आवासीय कृत्रिम उपग्रह है। यह पृथ्वी से 330 से 435 किलोमीटर की ऊंचाई पर है। यह 92 मिनट में पृथ्वी की एक परिक्रमा पूरी करता है। यह एक दिन में 15.5 बार पृथ्वी की परिक्रमा करता है। ISS कार्यक्रम पांच अन्तरिक्ष एजेंसियों नासा (अमेरिका), रोसकॉसमॉस (रूस), जाक्सा (जापान), ESA (यूरोप) तथा CSA (कनाडा) का संयुक्त कार्यक्रम है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , ,

Advertisement