राज्यों के करेंट अफेयर्स

भारतीय बाल चिकित्सा अकादमी ने केरल में ‘टीबी फ्री एयर फॉर एव्री चाइल्ड’ कार्यक्रम शुरू किया

भारतीय बाल चिकित्सा अकादमी ने हाल ही में केरल में टीबी फ्री एयर फॉर एव्री चाइल्ड’ कार्यक्रम शुरू किया। इस कार्यक्रम के तहत भारतीय बाल चिकित्सा अकादमी द्वारा 2500 बाल रोग चिकिस्तकों को ट्यूबरक्लोसिस की चिकित्सा के बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसका उद्देश्य राज्य में बच्चों में टीबी को समाप्त करना है।

क्षय रोग (टीबी)

क्षय रोग के फैलने का सबसे बड़ा कारण है इस बीमारी के प्रति लोगों में जानकारी का अभाव। टीबी (क्षय रोग) यानि ट्यूबरक्लोसिस एक संक्रामक रोग है, जो माइकोबैक्टिरीयम ट्यूबरक्यूलोसिस नाम के बैक्टीरिया की वजह से होता है। ये बीमारी हवा के जरिए एक इंसान से दूसरे में फैलती है। सबसे आम फेफड़ों की टीबी है लेकिन ये गर्भाशय, मुंह, लिवर, किडनी, गला,ब्रेन, हड्डी जैसे शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है। टीबी बैक्टीरिया शरीर के जिस भी हिस्से में होता है उसके टिश्यू को पूरी तरह से नष्ट कर देता है और उससे उस अंग का काम प्रभावित होता है।

टीबी के लक्ष्ण हैं :

खांसते समय बलगम में खून का आना,भूख में कमी, थकान और कमजोरी का एहसास, सीने में दर्द, बार बार खांसना, बुखार, गले में सूजन और पेट में गड़बड़ी का होना।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

कलकत्ता पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रखा गया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कलकत्ता पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं वर्षगाँठ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शरीक हुए, इस दौरान उन्होंने कलकत्ता पोर्ट ट्रस्ट पर स्मारक डाक टिकट जारी किये। प्रधानमंत्री मोदी ने 600 करोड़ रुपये के बंदरगाह विकास कार्य को भी लांच किया। इस राशि से बन्दर तक रेलवे अधोसंरचना को अपग्रेड किया जाएगा तथा पॉट रिपेयर फैसिलिटी को अपग्रेड किया जाएगा। इस मौके पर कलकत्ता पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रखा गया।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी

श्यामा प्रसाद मुखर्जी एक राजनेता, शिक्षाविद व बैरिस्टर थे, उनका जन्म 6 जुलाई, 1901 को कलकत्ता में हुआ था। वे पंडित जवाहरलाल नेहरु की सरकार में उद्योग व आपूर्ति मंत्री थे। जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पंडित नेहरु से मतभेद होने के कारण वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अलग हुए। 1951 में उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सहायता से भारतीय जनसंघ की स्थापना की, जिससे बाद में भारतीय जनता पार्टी अस्तित्व में आई। गौरतलब है कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अनुच्छेद 370 कड़ा विरोध किया था, इस संदर्भ में उन्होंने कहा था “एक देश में दो विधान, दो प्रधान और दो निशान नहीं चलेंगे”। इसके विरोध में डॉ. मुखर्जी 1953 में कश्मीर गये और भूख हड़ताल की। 19 उनका निधन 23 जून, 1953 में जम्मू-कश्मीर में हिरासत में रहस्यमय परिस्थितयों में हुआ था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement