राज्यों के करेंट अफेयर्स

उत्तर-पूर्व में दो अंतर्राज्यीय सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया

उत्तर-पूर्वी क्षेत्र के विकास के लिए राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने उत्तर-पूर्व में दो अंतर्राज्यीय सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

मुख्य बिंदु

  • पहली परियोजना 17.47 किलोमीटर लम्बी दोइमुख-हरमुती सड़क है, यह सड़क असम को अरुणाचल प्रदेश से जोड़ती है। दूसरी परियोजना 1.6 किलोमीटर लम्बी तुरा-मनकचार सड़क है, यह असम और मेघालय को जोड़ती है।
  • इन सडकों का निर्माण उत्तर-पूर्व सड़क सेक्टर विकास योजना के अंतर्गत किया गया है। इसका उद्देश्य अंतर्राज्यीय कनेक्टिविटी को बढ़ावा देना है। इसका निर्माण राष्ट्रीय उच्चमार्ग तथा अधोसंरचना विकास कारपोरेशन लिमिटेड द्वारा किया गया है।
  • 17.47 किलोमीटर लम्बी दोइमुख-हरमुती सड़क का निर्माण 58.25 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। यह सड़क गुम्तो तथा गुलाजोली नदियों वाले पहाड़ी क्षेत्रों में कनेक्टिविटी के लिए बेहद उपयोगी है।
  • 1.66 किलोमीटर लम्बी तुरा-मनकचार सड़क का निर्माण 4.71 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की आधारशिला रखी। इस परियोजना के द्वारा इस धार्मिक स्थल का जीर्णोंधार किया जायेगा। इससे पहले 1780 में मराठा रानी अहिल्याबाई होलकर ने मंदिर तथा आसपास के क्षेत्र का जीर्णोधार किया था।

मुख्य बिंदु

  • यह 50 फीट का कॉरिडोर गंगा के मणिकर्णिका तथा ललिता घाट को सीधे काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर से जोड़ा जायेगा।
  • इस कॉरिडोर में यात्रियों को नए संग्रहालय तथा वाराणसी का प्राचीन इतिहास व संस्कृति देखने को मिलेगी।
  • धार्मिक अनुष्ठानों के लिए नई यज्ञशालाओं का निर्माण भी किया जायेगा।
  • इस कॉरिडोर में पुजारियों तथा स्वयंसेवकों के लिए आश्रयस्थलों का निर्माण किया जायेगा जबकि पर्यटकों के लिए पूछताछ केंद्र की स्थापना भी की जायेगी।
  • बैठकों तथा मंदिरों के कार्यक्रम के लिए विशाल ऑडिटोरियम की स्थापना की जायेगी।
  • पर्यटकों के लिए बनारसी तथा अवधी पकवान उपलब्ध करवाए जायेंगे।
  • इस परियोजना की कुल लागत लगभग 600 करोड़ रुपये आएगी।

काशी विश्वनाथ मंदिर गंगा नदी के किनारे पर स्थित है, परन्तु इसके आसपास के क्षेत्र काफी छोटा व संकरा है। इस कारण उत्सव के समय में इस स्थान पर भीड़ की काफी समस्या रहती है। कॉरिडोर के निर्माण के बाद भीड़ से निजात मिलेगी तथा तीर्थयात्रियों को भी बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हो सकेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement