राज्यों के करेंट अफेयर्स

इडुक्की की मरयूर गुड़ को मिला भौगोलिक संकेत (GI) टैग

केरल के इडुक्की जिले की मरयूर गुड़ को हाल ही में भौगोलिक संकेत (GI) टैग प्रदान किया गया। मरयूर गुड़ का निर्माण पारंपरिक विधि द्वारा किया जाता है। वर्तमान में किसानों को मरयूर गुड़ के लिए प्रति किलो 45 से 47 रुपये का दाम मिलता है, परन्तु इसकी अपेक्षित कीमत 80-100 रुपये प्रति किलोग्राम है। कई क्षेत्रों में मरयूर किस्म की नकली गुड़ भी बड़े पैमाने पर बेची जाती है, जिसके कारण वास्तविक मरयूर गुड़ की कीमत भी कम ही रह जाती है। मरयूर गुड़ को GI टैग मिलने के बाद उपभोक्ताओं को वास्तविक मरयूर गुड़ मिलेगी और किसानों को इसका अच्छा दाम भी मिलेगा।

विशिष्ट भौगोलिक संकेत (Geographical Indication)

GI टैग अथवा पहचान उस वस्तु अथवा उत्पाद को दिया जाता है जो कि विशिष्ट क्षेत्र का प्रतिनिधत्व करती है, अथवा किसी विशिष्ट स्थान पर ही पायी जाती है अथवा वह उसका मूल स्थान हो। GI टैग कृषि उत्पादों, प्राकृतिक वस्तुओं तथा निर्मित वस्तुओं उनकी विशिष्ट गुणवत्ता के लिए दिया जाता है। यह GI पंजीकरण 10 वर्ष के लिए वैध होता है, बाद में इसे रीन्यू करवाना पड़ता है। कुछ महत्वपूण GI टैग प्राप्त उत्पाद दार्जीलिंग चाय, तिरुपति लड्डू, कांगड़ा पेंटिंग, नागपुर संतरा तथा कश्मीर पश्मीना इत्यादि हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

प्रधानमंत्री मोदी ने किया नागपुर मेट्रो का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नागपुर में मेट्रो का उद्घाटन किया, इसके साथ ही नागपुर महाराष्ट्र का दूसरा मेट्रो युक्त शहर बन गया है।

नागपुर मेट्रो

  • प्रधानमंत्री मोदी ने 13.5 किलोमीटर लम्बे मेट्रो मार्ग का उद्घाटन किया गया, इसमें खपरी से सिताबुल्दी के बीच पांच स्टेशन हैं।
  • नागपुर मेट्रो में दो कॉरिडोर हैं, इसकी कुल लम्बाई 38 किलोमीटर है।
  • दोनों कॉरिडोर में कुल 38 स्टेशन, 2 डिपो तथा 69 मेट्रो कार होंगी।
  • महिला सुरक्षा तथा सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक ट्रेन में एक विशेष “नारी शक्ति” महिला कोच होगी।
  • नागपुर मेट्रो को ग्रीन मेट्रोभी कहा जाता है क्योंकि इसकी आवश्यकता की 65% विद्युत् का उत्पादन सौर उर्जा से किया जायेगा।
  • यात्रियों की आवाजाही से पहले ही नागपुर मेट्रो ने स्टैम्प ड्यूटी से 51 करोड़ रुँपये तथा विकास अधिकार के हस्तांतरण से 6.87 करोड़ रुपये कमा लिए हैं।

2050 तक नागपुर की जनसँख्या के दोगुना होने का अनुमान है, इसलिए नागपुर में अत्याधुनिक परिवहन व्यवस्था अति आवश्यक है। मेट्रो रेल इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement