राज्यों के करेंट अफेयर्स

मुख्य बिंदु : राजस्थान  विधान सभा चुनाव, 2018

राजस्थान  विधानसभा चुनावों का आयोजन एक ही चरण में 7 दिसम्बर, 2018 को किया गया था। इन चुनावों में कांग्रेस को सर्वाधिक सीटें मिली तथा अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री चुना गया।

राजस्थान विधानसभा की संरचना

राजस्थान में एक सदनीय विधानसभा है, राजस्थान विधानसभा भवन जयपुर में स्थित है। राजस्थान विधानसभा के कुल सदस्यों की संख्या 200 है (199 निर्वाचित, 1 मनोनीत)। राज्य में सरकार के गठन के लिए किसी दल अथवा गठबंधन के पास 101 सीटें होनी चाहिए।

राजस्थान विधानसभा की वर्तमान  संरचना

  • कांग्रेस : 99 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी : 73  सीटें
  • स्वतंत्र उम्मीदवार : 13
  • बहुजन समाज पार्टी : 6 सीटें
  • राष्ट्रीय लोकतान्त्रिक पार्टी : 3  सीटें
  • भारतीय साम्यवादी पार्टी (CPI-M) : 2 सीटें
  • भारतीय ट्राइबल पार्टी : 2 सीटें
  • राष्ट्रीय लोक दल : 1 सीट

पूर्व मुख्यमंत्री

  • अब तक राजस्थान के 14 मुख्यमंत्री रहें हैं, इनमे से 11 मुख्यमंत्री भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के रहे हैं।
  • राजस्थान के पहले मुख्यमंत्री हीरा लाल शास्त्री थे, वे 1949 से 1951 तक मुख्यमंत्री रहे।
  • मोहन लाल सुखाडिया सबसे लम्बे समय तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे, 1954 से 1971 तक (बीच में राष्ट्रपति शासन के कारण थोड़ा अंतराल रहा) मुख्यमंत्री रहे।
  • वसुंधरा राजे राजस्थान की मुख्यमंत्री बनने वाली पहली व एकमात्र महिला हैं।

वर्तमान मुख्यमंत्री

कांग्रेस के अनुभवी नेता अशोक गहलोत राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री होंगे, वे राजस्थान के 15वें मुख्यमंत्री होंगे। जबकि सचिन पायलट राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री होंगे। अशोक गहलोत का जन्म 3 मई, 1951 को राजस्थान के जोधपुर में हुआ था। इससे पहले वे 1998 से 2003 तथा 2008 से 2013 के बीच भी राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। वे 2 सितम्बर, 1982 से 7 फरवरी, 1984 के बीच केन्द्रीय राज्य पर्यटन व नागरिक उड्डयन मंत्री रहे। इसके बाद वे 7 फरवरी, 1984 से 31 अक्टूबर, 1984 के दौरान केन्द्रीय उप-खेल मंत्री रहे। अशोक गहलोत 21 जून, 1991 से 18 जनवरी, 1993 के बीच केन्द्रीय राज्य कपड़ा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

मुख्य बिंदु : मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव, 2018

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों का आयोजन एक ही चरण में 28 नवम्बर, 2018 को किया गया था। इन चुनावों में कांग्रेस को सर्वाधिक सीटें मिली तथा कमल नाथ को मुख्यमंत्री चुना गया।

मध्य प्रदेश विधानसभा की संरचना

मध्य प्रदेश में एक सदनीय विधानसभा है, मध्य प्रदेश विधानसभा भवन भोपाल में स्थित है। मध्य प्रदेश विधानसभा के कुल सदस्यों की संख्या 231 है (230 निर्वाचित, 1 मनोनीत)। राज्य में सरकार के गठन के लिए किसी दल अथवा गठबंधन के पास 115 सीटें होनी चाहिए।

मध्य प्रदेश विधानसभा की वर्तमान  संरचना

  • कांग्रेस : 114 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी : 109 सीटें
  • स्वतंत्र उम्मीदवार : 4
  • बहुजन समाज पार्टी : 2 सीटें
  • समाजवादी पार्टी : 1 सीट
  • अन्य : 1 सीट
  • मनोनीत : 1 सीट

पूर्व मुख्यमंत्री

  • मध्य प्रदेश राज्य के रूप में 1 नवम्बर, 1956 में पुनर्गठन के बाद अस्तित्व में आया था।
  • अब तक मध्य प्रदेश के 17 मुख्यमंत्री रहें हैं, इनमे से 11 मुख्यमंत्री भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के रहे हैं।
  • मध्य प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री रविशंकर शुक्ला थे, वे 60 दिन तक ही मुख्यमंत्री रहे।
  • मध्य प्रदेश के पहले गैर-कांग्रेसी मुख्यमंत्री गोविन्द नारायण सिंह (1967-69) थे।
  • मध्य प्रदेश में लगातार दो बार कार्यकाल पूर्ण करने वाले पहले मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह थे।
  • मध्य प्रदेश की प्रथम व एकमात्र महिला मुख्यमंत्री उमा भारती थीं, वे 2003 से 2004 के बीच राज्य की मुख्यमंत्री रहीं।

वर्तमान मुख्यमंत्री

हाल ही में कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री नियुक्त करने का फैसला किया है। कमलनाथ का जन्म 18 नवम्बर, 1946 को हुआ था। वे पहली बार 1980 में लोकसभा के सदस्य चुने गये थे। जून, 1991 में वे केन्द्रीय मंत्रिमंडल में राज्य पर्यावरण व वन मंत्री बने थे। 1995 से 1996 के बीच वे केन्द्रीय राज्य कपड़ा उद्योग मंत्री रहे। 2004 से 2009 के बीच वे केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्री रहे। 2009 में उन्हें केन्द्रीय सड़क परिवहन व उच्चमार्ग मंत्री नियुक्त किया गया। वे मध्य प्रदेश के छिन्दवाड़ा से 9 बार लोकसभा के सदस्य चुने जा चुके हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement