करेंट अफेयर्स - अप्रैल, 2018

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान को जारी रखने की मंजूरी दी

मानव संसाधन मंत्रालय के ‘राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान’ (RUSA) को 01 अप्रैल, 2017 से 31 मार्च, 2020 तक जारी रखने को आर्थिक मामलों संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति ने मंज़ूरी दी है।

मुख्य बिंदु

-यह एक केंद्रीय प्रायोजित योजना है जिसे वर्ष 2013 में राज्‍यों की पात्र उच्‍चतर शैक्षिक संस्‍थाओं को वित्तपोषित करने के उद्देश्‍य से प्रारंभ किया गया था।
-केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा साझा तौर पर सभी उपघटकों के लिये सार्वजनिक वित्तपोषित संस्थानों में परियोजना खर्च वहन किया जाता है।
-इसमें पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू एवं कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के लिये अनुपात 90:10, अन्य राज्यों और विधानमंडल वाले केंद्रशासित प्रदेशों के लिये अनुपात 60:40 तथा बिना विधानमंडल वाले केंद्रशासित प्रदेशों के लिये अनुपात 100:0 है।
-योजना अपने दूसरे चरण में है। 70 नए आदर्श डिग्री कॉलेजों और 8 नए व्यावसायिक कॉलेजों की स्थापना करना इसका लक्ष्य है। इसके अतिरिक्त चुने हुए 10 राज्य विश्वविद्यालयों और 70 स्वायत्तशासी कॉलेजों की गुणवत्ता और उत्कृष्टता में यह योजना बढ़ोतरी करेगा। इस संबंध में 50 विश्वविद्यालयों और 750 कॉलेजों को संरचना समर्थन प्रदान करेगी।
-राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान 2020 तक देश के कुल नामांकन अनुपात को तीस प्रतिशत तक बढ़ाने के साथ ही राज्य सरकारों द्वारा उच्च शिक्षा में खर्च में बढ़ोतरी करने के लिये भी प्रयास करेगा।
-इसके अलावा यह सामाजिक रूप से वंचित समुदायों को उच्च शिक्षा के लिये उचित अवसर प्रदान कर उच्च शिक्षा में समानता को बढ़ावा देगा।
-इसके तहत महिलाओं, अल्पसंख्यकों, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग तथा दिव्यांगजनों के समावेश को प्रोत्साहित करेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

सरकार ने स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप का शुभारंभ किया

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ मिलकर स्वच्छ भारत अभियान के आयोजक और समन्वयक पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय ने ‘स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप (SBSI), 2018’ की पहल की है, जिसका उद्देश्य कॉलेज के युवाओं को गर्मियों की छुट्टियों के दौरान गाँवों में स्वच्छता से जुड़े कार्यों से जोड़ना है।

मुख्य तथ्य

-2 अक्तूबर, 2014 को यह प्रधानमंत्री द्वारा किये गए आह्वान के अनुरूप है।
-स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप का उद्देश्य देश भर के लाखों शिक्षित युवाओं में स्वच्छता क्षेत्र के लिये कौशल विकसित करना, जन-जागरूकता का प्रसार और स्वच्छ भारत अभियान के लिये जनांदोलन को मज़बूती प्रदान करना है।
-स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप की शर्तों के अंतर्गत हर अभ्यर्थी को गाँवों और उनके आसपास के इलाकों में श्रमदान, स्वच्छता बुनियादी ढाँचा तैयार करने, व्यवस्था बनाने, व्यवहारगत बदलाव के लिये अभियान और अन्य आईईसी पहलों सहित विभिन्न गतिविधियों पर 100 घंटों तक काम करने की ज़रूरत होगी।
-स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप के दिशा-निर्देशों को उच्च शिक्षा विभाग के साथ परामर्श से तैयार किया जा रहा है। सर्वश्रेष्ठ इंटर्नशिप को कॉलेज, महाविद्यालय, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दी जाएगी।
-स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप को पूरा करने वाले हर इंटर्न को स्वच्छ भारत अभियान द्वारा एक इंटर्नशिप प्रमाणपत्र उपलब्ध कराया जाएगा।
-उच्च शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग च्वॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) के अंतर्गत 2 क्रेडिट प्वाइंट्स उपलब्ध कराने पर सहमत हो गया है, जो स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप पूरा करेंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement