करेंट अफेयर्स - अप्रैल, 2019

COVID-19 का रैपिड टेस्ट विकसित करने के लिए विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग ने ‘मोड्यूल इनोवेशन्स’ को वित्त पोषित किया

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग ने COVID-19 परीक्षण किट विकसित करने के लिए “मॉड्यूल इनोवेशन” नामक हेल्थकेयर स्टार्टअप को फंडिंग प्रदान की है। इस किट का उद्देश्य परीक्षण के परिणाम को शीघ्र प्रस्तुत करना है।

मुख्य बिंदु

यह स्टार्टअप तीव्र परीक्षण की अपनी वर्तमान परियोजना के लिए इस फंडिंग का उपयोग करेगा। यह डिवाइस मानव शरीर में COVID-19 के खिलाफ उत्पन्न होने वाले एंटीबॉडी के लिए परीक्षण करेगा।

मानव शरीर में इम्यूनोग्लोबुलिन जी और इम्युनोग्लोबुलिन एम उत्पन्न होता है क्योंकि वायरस अपना संक्रमण शुरू कर देता है। एंटीबॉडी को वायरस के स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ लक्षित किया जाता है।  COVID-19 के परीक्षण की वर्तमान पद्धति जो रियल टाइम रिवर्स-पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन (RT-PCR) का उपयोग करती है, इसमें कई घंटों का समय लगता है।

लाभ

इस किट का उपयोग हवाई अड्डों, अस्पतालों और रेलवे स्टेशनों में किया जाएगा। परीक्षण के अलावा, यह किट रोगियों में संक्रमण के चरण की जानकारी भी प्रदान करेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month: /

Tags: , , , ,

संयुक्त राष्ट्र ने भारत की जीडीपी दर 4.8% रहने का अनुमान लगाया

9 अप्रैल, 2020 को संयुक्त राष्ट्र ने एशिया और प्रशांत के आर्थिक और सामाजिक सर्वेक्षण (ESCAP), 2020 पर एक रिपोर्ट जारी की।

मुख्य बिंदु

इस रिपोर्ट के अनुसार 2019-20 में भारत की आर्थिक विकास दर 5% थी। यह अनुमान लगाया गया है कि विकास दर 2020-21 में 4.8% तक सिकुड़ जायेगा और वर्ष 2021-22 में विकास दर में सुधार हो सकता है।

वायरस के नकारात्मक प्रभाव दुनिया के अन्य हिस्सों की तुलना में एशिया और प्रशांत को बहुत प्रभावित करते हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि वायरस का प्रभाव 17 साल पहले SARS के दौरान अनुभव होने वाले से भी बदतर होगा।

वैश्विक अर्थव्यवस्था

इस रिपोर्ट के अनुसार वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में 2.3% की दर से बढ़ेगी और 2021 में धीरे-धीरे रफ़्तार पकड़ेगी। वैश्विक आर्थिक विकास दर 2019 में 3% थी और यह 2008 में आर्थिक मंदी के बाद से यह सबसे धीमी विकास दर थी।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि एशिया-प्रशांत क्षेत्र में विकास दर 5% से 4.3% तक कमजोर होगी।

फार्मास्यूटिकल्स पर प्रभाव

भारत विश्व की 20% दवाओं का उत्पादन करता है। यह चीन से 70% कच्चे माल का आयात करता है। इसलिए अगर लंबे समय तक महामारी जारी रहती है तो यह इन आपूर्ति श्रृंखलाओं को बहुत प्रभावित करेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month: /

Tags: , , , ,

Advertisement