करेंट अफेयर्स - अप्रैल, 2019

टाइम की 100 सबसे अधिक प्रभावशाली लोगों की सूची में तीन भारतीयों को शामिल किया गया

हाल ही में टाइम पत्रिका ने 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची जारी की है, इस सूची में तीन भारतीय शामिल हैं। इस सूची में डोनाल्ड ट्रम्प, इमरान खान, शी जिनपिंग, पोप फ्रांसिस, टाइगर वुड्स तथा मार्क जकरबर्ग शामिल हैं। इस सूची में शामिल होने वाले भारतीय तीन भारतीय हैं : मुकेश अम्बानी, मेनका गुरुस्वामी तथा अरुंधती काटजू।

मुकेश अम्बानी : वे रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन तथा सबसे बड़े शेयरहोल्डर हैं। रिलायंस भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है।

मेनका गुरुस्वामी तथा अरुंधती काटजू : वे दोनों भारतीय वकील हैं, उन्होंने भारतीय दंड संहिता के सेक्शन 377 को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, इस सेक्शन के द्वारा समलैंगिकता अपराध था। सितम्बर, 2018 ने इस सेक्शन को आंशिक रूप से गलत ठहराया था।

100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची

अमेरिका की टाइम पत्रिका प्रतिवर्ष विश्व के 100 सबसे अधिक प्रभावशाली लोगों की सूची जारी करती है। इसे पहली बार 1999 में प्रकाशित किया गया था। इस सूची में शामिल होने वाले लोगों को विश्व में परिवर्तन लाने के लिए इस सूची में जगह दी जाती है।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

IIT मद्रास के अनुसंधानकर्ताओं ने भारती लिपि के लिए सरल ओसीआर सिस्टम विकसित किया

IIT मद्रास के अनुसंधानकर्ताओं ने भारती लिपि के लिए सरल ओसीआर सिस्टम विकसित किया, इस शोधकार्य का नेतृत्व प्रोफेसर वी. श्रीनिवास चक्रवर्ती द्वारा किया गया। इस प्रणाली के द्वारा भारती स्क्रिप्ट में लिखे गये दस्तावेजों को कंप्यूटर द्वारा पढ़ा जा सकता है।

भारती स्क्रिप्ट

भारती स्क्रिप्ट एक एकीकृत लिपि है, इसमें नौ भारतीय भाषाएँ शामिल हैं। इसमें देवनागरी, बंगाली, गुरुमुखी, गुजराती, ओड़िया, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम तथा तमिल शामिल हैं। इसमें उर्दू और अंग्रेजी को शामिल नहीं किया गया है क्योंकि इनका ध्वन्यात्मक गठन काफी भिन्न है।

यह आवश्यक क्यों है?

कई यूरोपीय भाषाएँ (अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन, इटालियन इत्यादि) रोमन लिपि का उपयोग एक आम लिपि के रूप में करती है, इस उन सभी देशों में संचार में आसानी होती है, जिन देशों में इस आम लिपि का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार हमारे देश में विभिन्न भाषाएँ हैं, यदि हमारे देश में ही एक आम लिपि हो तो संचार बाधा काफी हद तक कम हो जायेगी।

ओसीआर (ऑप्टिकल करैक्टर रिकग्निशन) स्कीम)

यह सबसे पहले डॉक्यूमेंट को टेक्स्ट तथा नॉन-टेक्स्ट में विभाजित कर देता है। बाद में टेक्स्ट को पैराग्राफ, वाक्य, शब्द तथा वर्णों में विभाजित किया जाता है। प्रत्येक वर्ण को करैक्टर के रूप में ASCII अथवा Unicode में चिन्हित किया जाता है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement