करेंट अफेयर्स - अगस्त, 2018

पश्चिम बंगाल में स्वच्छ व सुरक्षित पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए एशियाई विकास बैंक प्रदान करेगा 245 मिलियन डॉलर का ऋण

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने पश्चिम बंगाल में स्वच्छ व सुरक्षित पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए 245 मिलियन डॉलर के ऋण को मंज़ूरी प्रदान की। इस ऋण का उपयोग पश्चिम बंगाल में लगभग 30 लाख लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए किया जायेगा। पश्चिम बंगाल के कई जिलों में जल आर्सेनिक, फ्लोराइड और लवणता के कारण पीने योग्य नहीं है।

इस प्रोजेक्ट के द्वारा नार्थ 24 परगना, बंकुरा, पूरब मेदिनीपुर में लगभग 3,90,000 घरों को स्वच्छ पेयजल मुहैया करवाया जायेगा। इस प्रोजेक्ट के द्वारा आर्सेनिक और फ्लोराइड से होने वाली बीमारियों में भी कमी आएगी।

मुख्य बिंदु

इस प्रोजेक्ट के द्वारा बड़े जनसमूह को पीने योग्य पानी उपलब्ध करवाया जायेगा। इस प्रोजेक्ट में जल प्रबंधन के लिए अत्याधुनिक तकनीकों का उपयोग किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट की कुल लागत, 349 मिलियन डॉलर है। इसके के लिए 240 मिलियन डॉलर का ऋण एशियाई विकास बैंक द्वारा प्रदान किया जायेगा, जबकि 3 मिलियन डॉलर जापान सरकार द्वारा प्रदान किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट के लिए पश्चिम बंगाल सरकार 106 मिलियन डॉलर व्यय करेगी। इस प्रोजेक्ट 2024 तक पूरा होगा।

पृष्ठभूमि

भारत में पेयजल में आर्सेनिक और फ्लोराइड के उच्च स्तर के कारण यह जनस्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा है। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 85% जल भूमिगत स्त्रोत से आता है, इसके कारण 27 मिलियन लोग आर्सेनिक व फ्लोराइड प्रदूषण से प्रभावित होने की कगार पर है। भारत में पश्चिम बंगाल आर्सेनिक और फ्लोराइड प्रदूषण से सर्वाधिक प्रभावित है। पेयजल में आर्सेनिक के कारण कैंसर जैसी घातक बिमारी हो सकती है जबकि आर्सेनिक के कारण स्केलेटल फ्लोरोसिस और हड्डियों से सम्बंधित रोग हो सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

वोस्तोक 2018 : रूस सितम्बर 2018 में करेगा सबसे बड़े युधाभ्यास का आयोजन

रूस 11-15 सितम्बर, 2018 के दौरान सबसे बड़े युद्ध अभ्यास वोस्तोक-2018 (ईस्ट-2018) का आयोजन करेगा। यह ज़ेपद-81 (वेस्ट-81) के बाद रूस का सबसे बड़ा युद्ध अभ्यास है। ज़ेपद-81 का आयोजन भूतपूर्व सोवियत संघ द्वारा 1981 में किया गया था, इस युद्ध अभ्यास में 1 लाख से 1.50 लाख सैनिकों ने हिस्सा लिया था।

वोस्तोक-18

वोस्तोक-20188 में रूसी सेना, वायुसेना और जलसेना हिस्सा लेगी। इसमें 3,00,000 सैनिक, 36,000 टैंक, सुरक्षित वाहन, 1000 से अधिक सैन्य एयरक्राफ्ट तथा दो नौसेना फ्लीट हिस्सा लेंगे। वोस्तोक-2018 में चीन और मंगोलिया भी हिस्सा लेंगे।

टिपण्णी

वोस्तोक-2018 का आयोजन नाटो व पश्चिमी देशों द्वारा रूस के प्रति आक्रामक व्यवहार के परिणामस्वरुप किया जा रहा है। 2014 में रूस द्वारा युक्रेन से क्रिमीआ के अधिग्रहण के बाद से ही नाटो और रूस के सम्बन्ध अधिक मैत्रीपूर्ण नहीं रहे हैं। इसके अलावा रूस पर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में छेड़छाड़ करने का आरोप भी लगा था। मार्च, 2018 में पूर्व जासूस सेर्गेई स्क्रिपल और उनकी पुत्री युलिया पर यूनाइटेड किंगडम पर नर्व एजेंट द्वारा हमला किया गया था। इस सब घटनाओं के कारण रूस के सम्बन्ध पश्चिमी देशों से काफी तल्ख़ हो गए हैं। इसके अलावा नातों ने पूर्वी यूरोप में सैनिकों की तैनाती को भी बढ़ा दिया है।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement