करेंट अफेयर्स – अगस्त, 2019

तीन नए उत्पादों को GI टैग प्रदान किया गया

हाल ही में तीन नए उत्पादों को GI टैग प्रदान किया गया, यह उत्पाद हैं – केरल के तिरुर का पान का पत्ता, मिजोरम का ताहलोपुआन फैब्रिक तथा मिज़ो पुआनचेई शाल।

तिरुर का पान का पत्ता : इसकी खेती केरल के मलप्पुरम जिले में तिरुर, तनूर, तिरुरांगड़ी, कुट्टीपुरम इत्यादि स्थानों में की जाती है। इस पत्ते में कई औषधीय गुण हैं, इसका उपयोग औषधि तथा उद्योग में किया जाता है।

ताहलोपुआन फैब्रिक : इस कपड़े का निर्माण मिजोरम में किया जाता है, इसका निर्माण मुख्य रूप से आइजोल तथा थेनजाल में किया जाता है।

मिज़ो पुआनचेई शाल : यह एक रंग्रीन शाल है, यह मिज़ो उत्सव तथा नृत्य इत्यादि में उपयोग किया जाता है।

विशिष्ट भौगोलिक संकेत (Geographical Indication)

GI टैग अथवा पहचान उस वस्तु अथवा उत्पाद को दिया जाता है जो कि विशिष्ट क्षेत्र का प्रतिनिधत्व करती है, अथवा किसी विशिष्ट स्थान पर ही पायी जाती है अथवा वह उसका मूल स्थान हो। GI टैग कृषि उत्पादों, प्राकृतिक वस्तुओं तथा निर्मित वस्तुओं उनकी विशिष्ट गुणवत्ता के लिए दिया जाता है। यह GI पंजीकरण 10 वर्ष के लिए वैध होता है, बाद में इसे रीन्यू करवाना पड़ता है। कुछ महत्वपूण GI टैग प्राप्त उत्पाद दार्जीलिंग चाय, तिरुपति लड्डू, कांगड़ा पेंटिंग, नागपुर संतरा तथा कश्मीर पश्मीना इत्यादि हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

एयर इंडिया बनी उत्तरी ध्रुव के ऊपर से उड़ान भरने वाली पहली भारतीय एयरलाइन

73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर एयर इंडिया उत्तरी ध्रुव के ऊपर से उड़ान भरने वाली पहली भारतीय एयरलाइन बन गयी है। दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को की उड़ान के द्वारा 2000 से 7000 इंधन की बचत होगी। इससे प्रति उड़ान 6000 से 21,000 कार्बन उत्सर्जन में भी कमी जायेगी। यह उड़ान किर्गिजस्तान, कजाखस्तान, रूस, आर्कटिक महासागर, कनाडा से होते हुए अमेरिका में प्रवेश करेगी। इस नए मार्ग से दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को की यात्रा 12,000 किलोमीटर से कम होकर 8,000 किलोमीटर रह जाएगी। इससे यात्रा में लगने वाले समय में 30 मिनट की बचत होगी। उत्तरी ध्रुव के ऊपर से जाने वाली इस उड़ान के पायलट कैप्टेन रजनीश शर्मा तथा कैप्टेन दिग्विजय सिंह थे।

एयर इंडिया

एयर इंडिया की स्थापना 15 अक्टूबर, 1932 को टाटा एयरलाइन्स के रूप में की गयी थी।  द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद इसे सार्वजनिक कंपनी बनाया गया। भारत सरकार ने 1953 में एयर कारपोरेशन अधिनियम पारित करके टाटा एयरलाइन्स में बड़ी हिस्सेदारी खरीदी। बाद में इसका नाम बदलकर एयर इंडिया इंटरनेशनल लिमिटेड कर दिया गया। वर्तमान समय में एयर इंडिया 4 महाद्वीपों के 60 अंतर्राष्ट्रीय स्थानों में सेवाएं प्रदान करता हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement