करेंट अफेयर्स – फरवरी, 2019

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गाँधी शांति पुरस्कार प्रदान किये

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गाँधी शांति पुरस्कार प्रदान किये। यह पुरस्कार 2015, 2016, 2017 तथ 2018 के लिए प्रदान किये गये।

अन्तर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार के विजेता

अन्तर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार के विजेता हैं : कन्याकुमारी में विवेकानंद केंद्र (2015), अक्षय पात्र फाउंडेशन तथा सुलभ इंटरनेशनल (2016), एकल अभियान ट्रस्ट (2017) तथा योहेई सासाकावा (2018) ।

  • कन्याकुमारी में विवेकानंद केंद्र को ग्रामीण विकास, शिक्षा तथा प्राकृतिक संसाधनों के विकास में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  • अक्षय पात्र फाउंडेशन को देश में बच्चों को मध्याह्न भोजन उपलब्ध करवाने के लिए सम्मानित किया गया।
  • सुलभ इंटरनेशनल को भारत में स्वच्छता सुविधा को बढ़ावा देने के लिए सम्मानित किया गया।
  • एकल अभियान ट्रस्ट को ग्रामीण तथा जनजातीय क्षेत्र में बच्चों की शिक्षा के लिए कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया।
  • योहेई सासाकावा निप्पोन फाउंडेशन के चेयरपर्सन तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन के गुडविल एम्बेसडर हैं। उन्हें कुष्ठरोग को समाप्त करने में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

अन्तर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार

अन्तर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार की स्थापना भारत सरकार ने 1995 में की थी। इस पुरस्कार के विजेताओं का चुनाव प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली जूरी द्वारा किया जाता है। इस जूरी में लोक सभा के नेता प्रतिपक्ष, भारत के मुख्य न्यायधीश तथा दो सुप्रसिद्ध व्यक्ति शामिल होते हैं। इस पुरस्कार के विजेता को एक करोड़ रुपये इनाम, प्रशस्ति पत्र तथा पारंपरिक हस्तशिल्प प्रदान किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का उद्घाटन किया, यह राष्ट्रीय युद्ध स्मारक इंडिया गेट काम्प्लेक्स के निकट स्थित है।  गौरतलब है कि राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के निर्माण पर 60 वर्ष पहले चर्चा शुरू हुई थी।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक

  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक 40 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में चार वृत्त हैं – अमर चक्र, वीरता चक्र, त्याग चक्र तथा रक्षक चक्र। इसमें ग्रेनाइट पर सुनहरे शब्दों में 25,942 सैनिकों के नाम लिखे हुए हैं।
  • इस युद्ध स्मारक का निर्माण 176 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।
  • इस युद्ध स्मारक के द्वारा 1962 के भारत चीन युद्ध, 1965 से 1971 के भारत-पाक युद्ध, श्रीलंका में भारतीय शांति बल तथा 1999 कारगिल युद्ध के सैनिकों को श्रद्धांजली दी गयी है।
  • इस प्रोजेक्ट के लिए 18 दिसम्बर, 2015 को मंज़ूरी दी गयी। इस प्रोजेक्ट का कार्य फरवरी, 2018 में शुरू हुआ। एक वर्ष के भीतर ही यह निर्माण कार्य पूरा हो गया।
  • इस युद्ध स्मारक में परम योद्धा स्थल में 21 परम वीर चक्र विजेताओं की मूर्तियाँ भी बनायीं गयी हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement