करेंट अफेयर्स – फरवरी, 2019

भारत-सऊदी अरब द्विपक्षीय बैठक

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की भारत यात्रा के दौरान भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय वार्ता का आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा सऊदी अरब के प्रिंस सलमान के बीच हुई द्विपक्षीय वार्ता के प्रमुख बिंदु निम्नलिखित हैं :

  • दोनों देशों ने उग्रवाद तथा आतंकवाद को सभी देशों को खतरा बताया तथा किसी विशेष धर्म, संस्कृत अथवा नस्ल से इसे जोड़ने को गलत ठहराया।
  • संयुक्त वक्तव्य में पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा गया कि आतंकवाद का उपयोग राष्ट्रीय नीति के औज़ार के रूप में नहीं किया जाना चाहिए।
  • इस वक्तव्य में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के स्तर की व्यापाक सुरक्षा वार्ता तथा आतंकवाद को रोकने के लिए संयुक्त वर्किंग ग्रुप की स्थापना की बात कही गयी है।
  • सऊदी अरब ने भारत की कच्चे तेल व पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए प्रतिबद्धता ज़ाहिर की।
  • सऊदी अरब ने भारत के हज कोटा में 25,000 की वृद्धि की। अब भारत का हज कोटा बढ़कर 2 लाख तक पहुँच गया है।
  • सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 2016 की सऊदी अरब यात्रा के बाद सऊदी अरब भारत में अब तक 44 अरब डॉलर  का निवेश कर चुका है। आने वाले समय में भारत में उर्जा, पेट्रोकेमिकल तथा विनिर्माण क्षेत्र में 100 अरब डॉलर का निवेश किया जा सकता है।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों पर आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

लॉकहीड मार्टिन ने किया नए F-21 लड़ाकू विमान का अनावरण

रक्षा उपकरण निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने एशिया के सबसे बड़े एयर शो “एरो इंडिया 2019” F-21 मल्टी रोल लड़ाकू विमान का अनावरण किया। इस लड़ाकू विमान का निर्माण लॉकहीड मार्टिन द्वारा भारत में मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स के साथ मिलकर किया जाएगा।

F-21 लड़ाकू विमान

  • लॉकहीड मार्टिन का कहना है कि F-21 लड़ाकू विमान का निर्माण विशेष रूप से भारतीय वायुसेना के लिए किया गया है, इससे भारत को वायु शक्ति बनने में सहायता मिलेगी।
  • F-21 से भारत की विशिष्ट आवश्यकताएं पूरी होंगी और भारत विश्व के बड़े फाइटर एयरक्राफ्ट इकोसिस्टम में शामिल हो जायेगा।
  • चूंकि इस लड़ाकू विमान का निर्माण भारत में किया जायेगा, इससे मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा मिलेगा तथा भारत-अमेरिका के बीच एडवांस्ड टेक्नोलॉजी सहयोग में भी वृद्धि होगी।

110 लड़ाकू विमानों के लिए भारत की सूचना मांग

भारत ने 110 लड़ाकू विमानों के लिए सूचना मांग (रिक्वेस्ट फॉर इनफार्मेशन) जारी की है। 6 एविएशन कंपनियों ने इस सूचना मांग का जवाब दिया है, इसमें बोइंग का F/A-18E/F सुपर होर्नेट, लॉकहीड मार्टिन का F-21फाइटिंग फाल्कन, दसौल्ट एविएशन का राफेल, यूरोफाइटर टाइफून, साब का ग्रिपेन तथा रशियन यूनाइटेड एयरक्राफ्ट कारपोरेशन का मिग-35 शामिल है।

भारत द्वारा जारी रिक्वेस्ट फॉर इनफार्मेशन में कहा गया है कि कुल 110 में 15% एयरक्राफ्ट उड़ान भरने की स्थिति में होने चाहिए जबकि शेष 85% एयरक्राफ्ट का निर्माण कंपनी को भारत में सामरिक साझेदार के साथ मिलकर करना होगा। लॉकहीड मार्टिन ने टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स के साथ मिलकर F-21 के लिए साझेदारी की है।बोइंग ने सुपर होर्नेट के लिए हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड तथा महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स के साथ मिलकर साझेदार की है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , ,

Advertisement