करेंट अफेयर्स – जुलाई, 2019

भारत ने स्ट्रुम अताका की खरीद के लिए रूस के साथ 200 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किये

भारत ने स्ट्रुम अताका एंटी टैंक मिसाइल की खरीद के लिए रूस के साथ 200 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किये हैं। इस एंटी टैंक मिसाइल का उपयोग भारतीय वायुसेना के Mi-32 हेलीकाप्टर में किया जायेगा। इस सौदे के द्वारा भारतीय वायुसेना युद्ध की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रखना चाहती है।

मुख्य बिंदु

स्ट्रुम अताका एंटी टैंक मिसाइल की सहायता से Mi-35 हेलीकाप्टर दुश्मन टैंक तथा अन्य सुरक्षित वाहनों को नष्ट कर सकते हैं। भारत पिछले एक दशक से रूसी मिसाइलों को खरीदने की कोशिश कर रहा है। इस सौदे को आपातकालीन क्लॉज़ के तहत किया गया है, इसके तहत अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के तीन महीने के बाद ही भारत को मिसाइलों की आपूर्ति की जायेगी।

आपातकालीन क्लॉज़ क्या है?

14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले के बाद रक्षा बलों को आपातकालीन शक्तियां दी गयी थी और भारत ने पाकिस्तान के साथ लगने वाली सीमा पर चौकसी बढ़ा दी थी।

तीनों सेनाओं को दी गयी आपातकालीन शक्तियों के तहत वे तीन महीने के भीतर 300 करोड़ रूपए मूल्य के उपकरण खरीद सकते हैं। भारतीय वायुसेना ने इस क्लॉज़ के तहत सर्वाधिक हथियार खरीदे हैं। इस आपातकालीन क्लॉज़ के तहत भारतीय वायुसेना ने स्पाइस-2000 हथियार प्रणाली को भी खरीदा था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

भारतीय रेलवे कर रहा है त्रिनेत्र टेक्नोलॉजी का परीक्षण

केन्द्रीय रेलवे मंत्री पियूष गोयल ने लोकसभा में प्रश्न काल के दौरान कहा कि भारतीय रेलवे त्रिनेत्र (Terrain Imaging for Drivers Infrared, Enhanced, Optical & Radar Assisted) टेक्नोलॉजी का परीक्षण कर रहा है। इस टेक्नोलॉजी के द्वारा रेलमार्ग में बाधाओं का पता लगाया जा सकता है।

मुख्य बिंदु

भारतीय रेल ने 2002-03 में आधुनिक तकनीक का विकास किया था और इसका परीक्षण बड़े पैमाने पर किया, परन्तु यह सफल नहीं हो सका। इसके बाद इस परियोजना को रद्द करके एक नयी परियोजना शुरू की गयी, नयी परियोजना में धुंध में देखने के लिए डिवाइस का विकास किया गया था। इसी प्रकार त्रिनेत्र भी भारतीय रेलवे का एक और प्रयास है। इस तकनीक के द्वारा रेल लाइन के मार्ग में मौजूद बाधाओं का पता लगाया जा सकता है।

त्रिनेत्र टेक्नोलॉजी

त्रिनेत्र टेक्नोलॉजी का पूर्ण स्वरुप Terrain Imaging for Drivers Infrared, Enhanced, Optical & Radar Assisted है। इसमें इन्फ्रारेड कैमरा, ऑप्टिकल कैमरा तथा राडार समर्थित इमेजिंग प्रणाली का उपयोग किया जा सकता है, इस तकनीक के माध्यम से चालक को धुंध में भी रेलमार्ग में मौजूद किसी बाधा का पता चल सकेगा। इस तकनीक का परीक्षण व्यापाक रूप से किया जायेगा ताकि इसके परिणाम सटीक हों।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement