करेंट अफेयर्स – जुलाई, 2019

विश्व हिन्दू इकनोमिक फोरम ने काठमांडू में नेपाल अध्याय शुरू किया

हाल ही में विश्व हिन्दू इकनोमिक फोरम ने नेपाल अध्याय शुरू किया, इस अवसर पर विश्व हिन्दू आर्थिक फोरम के संस्थापक स्वामी विज्ञानानंद ने कहा है कि आधुनिक विश्व में आर्थिक सशक्तिकरण अति आवश्यक है। नेपाल अध्याय का उद्देश्य भारत और नेपाल के बीच आर्थिक सहयोग को बढ़ावा देना है। इसका उद्घाटन नेपाल के स्वास्थ्य व जनसँख्या राज्य मंत्री डॉ. सुरेन्द्र कुमार यादव द्वारा किया गया। इस इवेंट में नेपाली समाज के उद्योगपति, बिज़नस पर्सन, व्यापारी, विचारक तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने हिस्सा लिया।

विश्व हिन्दू आर्थिक फोरम

विश्व हिन्दू आर्थिक फोरम की स्थापना स्वामी विज्ञानानंद द्वारा की गयी थी। इसका उद्देश्य वित्तीय रूप से सफल हिन्दू समूहों (बैंकर, टेक्नोक्रैट, निवेशक, उद्योगपति, प्रोफेशनल्स, अर्थशास्त्री तथा विचारक) को एक प्लेटफार्म पर लाना है, जहाँ पर वे अपने ज्ञान तथा विशेषज्ञता को औरों के साथ साझा कर सकें। हिन्दू आर्थिक फोरम, विश्व हिन्दू आर्थिक फोरम का हिस्सा है। इसके कई राष्ट्रीय अध्याय हैं, इसमें भारत, जर्मनी और केन्या इत्यादि शामिल हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह को भारतीय सेना का नया DGMO नियुक्त किया गया

लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह को भारतीय सेना का नया DGMO (डायरेक्टर जनरल ऑफ़ मिलिट्री ऑपरेशंस) नियुक्त किया गया है। वे 15 अक्टूबर को लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान का स्थान लेंगे। वर्तमान में वे सेना की नगरोटा बेस्ड XVI कॉर्प्स में जनरल कमांडिंग ऑफिसर के रूप में कार्यरत्त हैं।

DGMO के रूप में वे जम्मू-कश्मीर में LoC के साथ भारतीय सेना के विभिन्न ऑपरेशन का अवलोकन करेंगे। वे आतंक विरोधी ऑपरेशन तथा ऊंचाई में युद्ध का काफी अनुभव रखते हैं। उन्होंने सियाचीन में भी कार्य किया है। उनका अधिकतर करियर जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी विरोधी ऑपरेशन में बीता। उन्होंने श्रीलंका में लिट्टे के विरुद्ध ऑपरेशन में भी हिस्सा लिया। गौरतलब है कि उन्होंने 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक की योजना के महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

भारतीय थल सेना

ईस्ट इंडिया कंपनी की सरकार के अंतर्गत सैन्य विभाग में 1776 में भारतीय थल सेना की शुरुआत हुई है। भारतीय सेना का आदर्श वाक्य “स्वपूर्व सेवा” है। भारतीय थल सेना बाहरी तथा अन्तरिक्ष खतरों से देश की रक्षा करती है तथा देश की सीमाओं को सुरक्षित रखते हुए देश में शांति सुनिश्चित करती है। भारतीय थल सेना में 12 लाख से अधिक सक्रीय सैनिक कार्यरत्त हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement