करेंट अफेयर्स - जून, 2019

ICANN और NASSCOM तकनीक विकास तथा IoT के मानकों के लिए साथ मिलकर कार्य करेंगे

ICANN और NASSCOM ने IoT के लिए मानक निर्मित करने तथा सम्बंधित तकनीक विकसित करने के लिए सहमती प्रकट की है। सर्वप्रथम डोमेन नेम सिस्टम के द्वारा इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स डिवाइसेस के अपडेट किया जायेगा।

Internet Corporation for Assigned Names and Numbers (ICANN)

ICANN एक गैर-सरकारी, गैर-लाभकारी व निजी संगठन है, यह इन्टरनेट पर डोमेन नाम का अधीक्षण करता है। इसकी स्थापना 1998 में की गयी थी, इसका मुख्यालय अमेरिका के लॉस एंजेल्स में स्थित है। ICANN का उद्देश्य स्थिर व सुरक्षित इन्टरनेट सेवा सुनिश्चित करना है। यह इन्टरनेट प्रोटोकॉल इत्यादि का समन्वय का कार्य भी करता है। इसका अलावा यह न्यू टॉप लेवल डोमेन (TLD) जारी जारी करता है।

NASSCOM: National Association of Software & Services Companies

NASSCOM भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी (IT) और बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) उद्योग का वैश्विक गैर-लाभकारी व्यापार संगठन है. यह सॉफ्टवेयर और सेवाओं में व्यापार की सुविधा प्रदान करता है और सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी में शौध प्रगतियों को प्रोत्साहित करता है. यह भारतीय समाज अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत है और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है.

बेंगलुरू, चेन्नई, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता, मुंबई, पुणे और तिरुवनंतपुरम में इसके क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं. विश्व स्तरीय आईटी व्यापार निकाय में 200 से अधिक सदस्य देश शामिल हैं, जिनमें से 250 से अधिक चीन, यूरोपीय संघ, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन की कंपनियां हैं. NASSCOM की सदस्य कंपनियां सॉफ्टवेयर विकास, सॉफ्टवेयर सेवाओं, सॉफ्टवेयर उत्पादों, आईटी-सक्षम / बीपीओ सेवाओं और ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कार्यरत्त हैं.

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

फेसबुक ने “लिब्रा” नामक क्रिप्टोकरेंसी की घोषणा की

फेसबुक ने हाल ही में “लिब्रा” नामक क्रिप्टोकरेंसी की जानकारी साझा की है, इसे औपचारिक रूप से 2020 में लांच किया जायेगा।

लिब्रा

इसकी सहायता से लोग धन का आदान-प्रदान कर सकते हैं अथवा वस्तुएं खरीद सकते हैं। यूजर ऑनलाइन लिब्रा की खरीद-फरोख्त कर सकते हैं। इसका व्यय थर्ड पार्टी वॉलेट अथवा फेसबुक के वॉलेट “कैलिब्रा” पर किया जा सकता है। इस क्रिप्टोकरेंसी को लांच करने का उद्देश्य एक सरल वैश्विक मुद्रा प्रस्तुत करना है।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा है। यह मुद्रा भौतिक रूप में उपलब्ध नहीं होती, यह केवल आभासी मुद्रा (वर्चुअल करेंसी) है। इसका उपयोग लेन-देन के लिए किया जाता है। इसके लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है। बिटकॉइन, इथीरियम, रिप्पल, लाइटकॉइन इत्यादि कुछ प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी हैं। बिटकॉइन को विश्व की पहली क्रिप्टोकरेंसी माना जाता है, इसकी शुरुआत वर्ष 2009 में हुई थी।

फेसबुक

फेसबुक विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग कंपनी है, व्हाट्सएप्प और इन्स्टाग्राम इसकी सब्सिडियरी हैं। फेसबुक की स्थापना 4 फरवरी, 2004 को की गयी थी। इसके सह- संस्थापक मार्क जकरबर्ग, एदुआर्दो सेवरिन, एंड्रू मैककॉलम, डस्टिन मोस्कोवित्ज़ और क्रिस ह्यूज़ हैं। फेसबुक का मुख्यालय अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया के मेनलो पार्क में स्थित है। जनवरी 2018 के आंकड़ों के अनुसार फेसबुक के लगभग 2.2 अरब यूजर हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement