करेंट अफेयर्स – मार्च, 2019

आखिर निज़ामाबाद में EVM की जगह बैलट पेपर से क्यों वोट डाले जायेंगे?

भारत में मौजूदा दौर में विधानसभा तथा लोकसभा चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) से होते हैं, परन्तु इस बार तेलंगाना के निज़ामाबाद में बैलट पेपर के द्वारा मतदान किया जायेगा।

निज़ामाबाद में बैलट पेपर का उपयोग क्यों?

दरअसल निज़ामाबाद लोकसभा सीट से कुल 185 प्रत्याशी चुनाव के लिए खड़े हैं। चूंकि एक EVM में केवल 16 उम्मीदवारों के नाम आ सकते हैं और एक पोलिंग स्टेशन पर अधिकतम चार EVM उपयोग की जा सकती हैं, इसलिए इतने अधिक उमीदवारों के लिए मतदान करवाने के लिए चुनाव आयोग को मजबूरन बैलट पेपर का उपयोग करना पड़ेगा।

185 उम्मीदवारों में से 178 उम्मीदवार हल्दी और जवार की खेती करते हैं। दरअसल वे किसान अपनी फसल की उचित कीमत प्राप्त करने की मांग को रेखांकित करना चाहते हैं।

हालाँकि निज़ामाबाद लोकसभा सीट के लिए लगभग 200 लोगों ने नामांकन भरा था, परन्तु कुछ एक उम्मीदवारों के नामांकन पत्र रद्द हो गये। जबकि चार उम्मीदवारों ने अपना नाम वापस ले लिया।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव की पुत्री के. कविता निज़ामाबाद से मौजूदा लोकसभा सांसद हैं।

Month:

Tags: , , , , ,

दक्षिण कोरिया ने भारत को हराकार जीता सुल्तान अज़लान शाह कप

दक्षिण कोरिया की हॉकी टीम ने सुल्तान अज़लान शाह कप के फाइनल में पेनल्टी शूट-आउट में भारत को 4-2 से पराजित किया। निर्धारित समय में भारत और दक्षिण कोरिया 1-1 की बराबरी पर थे। भारत सुल्तान अज़लान शाह हॉकी कप को अब तक 5 बार जीत चुका है। इस मैच का आयोजन मलेशिया के इपोह में किया गया था।

सुल्तान अज़लान शाह कप

सुल्तान अज़लान शाह कप एक वार्षिक हॉकी प्रतियोगिता है, इसका आयोजन मलेशिया में किया जाता है। इसकी शुरुआत 1983 में द्वि-वार्षिक प्रतिस्पर्धा के रूप में हुई थी। बाद में 1998 में इसे वार्षिक प्रतिस्पर्धा बना दिया गया। इस प्रतिस्पर्धा का नाम मलेशिया के नौवें शासक सुल्तान अज़लान शाह के नाम पर रखा गया है, वे हॉकी के बहुत बड़े मुरीद थे। अब तक ऑस्ट्रेलिया इस प्रतियोगिता को सर्वाधिक 10 बार अपने नाम कर चुका है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement