करेंट अफेयर्स - मई, 2018

विश्व स्वास्थ्य संगठन : विश्व के 20 सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में 14 भारतीय शहर

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा जारी वैश्विक शहरी वायु प्रदूषण डेटाबेस के अनुसार, 14 भारतीय शहरों ने 2016 में पीएम 2.5 के कणों के मामले में दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में स्थान पाया है।
इन 14 शहरों में दिल्ली, वाराणसी, कानपुर , फरीदाबाद, गया, पटना, आगरा, मुजफ्फरपुर, श्रीनगर, गुड़गांव, जयपुर, पटियाला और जोधपुर शामिल हैं । इसके बाद अली सुबा अल-सलेम (कुवैत) और चीन और मंगोलिया के कुछ शहर सूची में शामिल हैं । पीएम 10 के स्तर के मामले में, भारत के 14 शहरों को 20 सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल किया गया।

पृष्ठभूमि

पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) में जीवाश्म ईंधनों का सर्वाधिक योगदान होता है वायु प्रदूषण का मुख्य कारण जीवाश्म ईंधनों का अनियंत्रित दहन है। डीज़ल से चलने वाले सार्वजनिक परिवहन, वाहन तथा शक्ति संयंत्र वायु प्रदूषण के एक अन्य प्रमुख कारण होते हैं। इस रिपोर्ट में सभी शहरों को पीएम10 के औसत स्तर पर मापा गया है। अन्य शहरों की तुलना में दिल्ली में कई अधिक निगरानी केंद्र स्थित होने के बावजूद वायु गुणवत्ता का खराब स्तर चिंता का विषय बना हुआ है। 90% से अधिक वायु प्रदूषण से संबंधित मौतें कम और मध्यम आय वाले देशों (भारत समेत) में मुख्य रूप से एशिया और अफ्रीका में होती हैं। इसके बाद पूर्वी भूमध्य क्षेत्र, यूरोप और अमेरिका के निम्न और मध्यम आय वाले देश वायु प्रदूषण से प्रभावित है। शहरी क्षेत्रों में रहने वाले 80% से अधिक लोग डब्ल्यूएचओ सीमा से अधिक होने वाले वायु गुणवत्ता के स्तर का सामना कर रहे हैं। जबकि दुनिया के सभी क्षेत्र इससे प्रभावित हैं, कम आय वाले शहरों की आबादी इससे सबसे ज्यादा प्रभावित होती है।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

राष्ट्रपति महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती हेतु पीएम के नेतृत्व वाले पैनल की अध्यक्षता करेंगे

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 2019 में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती हेतु राष्ट्रीय समिति की पहली बैठक की अध्यक्षता करेंगे। समिति के पेनल का नेतृत्व प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, पूर्व प्रधान मंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, केंद्रीय कैबिनेट के सदस्य, राजनीतिक दल के नेताओं, मुख्यमंत्रियों, गांधीवादी आध्यात्मिक गुरुओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित बोर्ड में 114 सदस्य होंगें ।

पृष्ठभूमि

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर, 2019 से 2 अक्टूबर, 2020 तक मनाई जाएगी। महात्मा गांधी के संदेश का प्रचार करने हेतु राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तरों पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाने की योजना है। 2018-19 के बजट प्रस्तावों में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने समारोह के लिए 150 करोड़ रुपये निर्धारित किए थे।

मुख्य तथ्य

114 सदस्यीय समिति जयंती हेतु नीतियों, योजनाओं और प्रारंभिक गतिविधियों पर चर्चा करेगी। सरकार द्वारा कार्यान्वयन के लिए इसकी सिफारिशों पर विचार किया जाएगा। संस्कृति मंत्रालय उत्सव के लिए नोडल मंत्रालय होगा। विभिन्न राज्यों के मुख्य मंत्री, विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, गांधीवादी, आध्यात्मिक नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं की बड़ी संख्या में बैठक में भाग लेने की उम्मीद है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement