करेंट अफेयर्स - मई, 2019

इग्नू ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के साथ मिलकर GST पर जागरूकता कार्यक्रम लांच किया

इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) ने हाल ही में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के साथ मिलकर वस्तु व सेवा कर पर जागरूकता कार्यक्रम लांच किया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य GST अधिनियम के तहत आधारभूत ज्ञान तथा कौशल प्रदान करना है। यह उन लोगों के लिए बेहद उपयोगी है जो एकाउंट्स का कार्य करते हैं तथा जो विभिन्न प्रकार के अप्रत्यक्ष कर रीटर्न भरते हैं। इसके द्वारा बुक-कीपिंग प्रोफेशनल  को कौशल प्रदान किया जायेगा। इस कोर्स के लिए 12वीं पास उम्मीदवार योग्य हैं। यह कोर्स जनवरी से जुलाई के बीच चलेगा।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है, इसकी स्थापना 1875 में की गयी थी। इसका कार्यालय मुंबई की दलाल स्ट्रीट में स्थित है। ब्रिटिश सरकार ने 1927 में BSE को अस्थायी स्वीकृति प्रदान की थी। भारत सरकार ने 31 अगस्त, 1957 को BSE को स्थायी स्वीकृति प्रदान की थी। वर्तमान में मार्केट कैपिटलाइजेशन के अनुसार BSE विश्व का 10वां सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है, इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 1.7 खरब डॉलर है। BSE में 5000 से अधिक कंपनियों लिस्टेड हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

माउंट एवेरेस्ट पर स्वच्छता अभियान

नेपाल सरकार ने माउंट एवेरेस्ट की सफाई के लिए 45 दिवसीय “माउंट एवेरेस्ट क्लीनिंग कैंपेन” लांच किया है। इस अभियान का उद्देश्य माउंट एवेरेस्ट पर फैले हुए कचरे के वापस लाना है। इस अभियान का नेतृत्व सोलूखुम्बू जिले के खुम्बू पासंगहमू ग्रामीण नगरपालिका द्वारा किया जा रहा है। इसका उद्देश्य माउंट एवेरेस्ट से 10,000 किलोग्राम का कचरा वापस लाना है।

मुख्य बिंदु

प्रति वर्ष सैंकड़ों शेरपा, पर्वर्तारोही तथा पोर्टर माउंट एवेरेस्ट जाते हैं। वे अपने पीछे बायोडिग्रेडेबल तथा नॉन-बायोडिग्रेडेबल कचरा छोड़ जाते हैं। इसमें खाली ऑक्सीजन कैनिस्टर, रसोई सम्बन्धी सामान, बियर की बोतलें इत्यादि शामिल हैं। भारी मात्रा में कचरा फैलने के कारण माउंट एवेरेस्ट को “विश्व का सबसे ऊँचा कूड़ादान” भी कहा जा रहा है। यह अभियान 29 मई को समाप्त होगा। 29 मई, 1953 को पहली बार एडमंड हिलेरी और तेनजिंग नोर्गे माउंट एवेरेस्ट के शिखर पर पहुंचे थे। वापस लाये जाने वाले कचरे का प्रदर्शन नामचे नगर में किया जायेगा। इसके बाद 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर इसका प्रदर्शन काठमांडू में किया जाएगा। इसके बाद इस कचरे को रीसाइकिलिंग के लिए भेजा जायेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement