करेंट अफेयर्स - मई, 2019

हैदराबाद में भारत के पहले “ब्लॉकचेन जिले” की स्थापना की जाएगी

तेलंगाना सरकार ने हैदराबाद में भारत के पहले ब्लॉकचेन जिले की स्थापना करने का निर्णय लिया है। इसका उद्देश्य स्टार्टअप्स तथा संस्थानों के लिए इकोसिस्टम तैयार करना है। इस जिले में बैंकिंग, वित्तीय सेवा व बीमा, फार्मास्यूटिकल व स्वास्थ्य, लॉजिस्टिक्स व सप्लाई चेन इत्यादि विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित कार्य किया जाएगा। इससे ब्लॉकचेन से सम्बंधित कार्य व अनुसन्धान व विकास कार्य को बढ़ावा मिलेगा।

ब्लॉकचेन जिला

यह जिला नवीन आईटी टेक्नोलॉजी के विकास के लिए एक केंद्र के रूप में स्थापित किया जाएगा। आधुनिक सुविधाओं और अधोसंरचना के साथ यह भारतीय ब्लॉकचेन स्टार्ट-अप्स और कंपनियों के लाभकारी सिद्ध होगा। टेक महिंद्रा संस्थापक सदस्य होने के कारण सभी इनक्यूबेटर्स को प्लेटफार्म व टेक्नोलॉजी उपलब्ध करवाएगा। तेलंगाना सूचना व प्रौद्योगिकी विभाग भी इसमें सहयोग करेगा।

ब्लॉकचेन जिला एक वैश्विक टैलेंट हब होगा, जिससे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का सदुपयोग किया जा सकता है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के प्रशिक्षण के लिए भी यह काफी उपयोगी सिद्ध होगा।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी

ब्लॉकचेन एक प्रकार का डिजिटल बही खाता है, इसमें डाटा क्लाउड में सुरक्षित रखा जाता है। यह डाटा स्टोरेज की सुरक्षित प्रणाली है। इसमें डाटा को कॉपी किये बिना विकेंद्रीकृत किया जाता है। यह काफी सुरक्षित व पारदर्शी है। इस टेक्नोलॉजी का उपयोग क्रिप्टोकरेंसी में बड़े पैमाने पर किया जाता है। इसके अलावा वित्तीय लेन-देन, क्राउड-फंडिंग, गवर्नेंस, फाइल स्टोरेज और इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स इत्यादि में इसका उपयोग किया जाता है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

औषधीय पौधों को बढ़ावा देने के लिए मेघालय सरकार ने “अरोमा मिशन” लांच किया

मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने राज्य के री-भोई जिले के बिरवा में अरोमा मिशन लांच किया, इस मिशन की लागत लगभग 18 करोड़ रुपये है।

अरोमा मिशन

इसका उद्देश्य किसानों की आजीविका की स्थिति में सुधार करना है तथा राज्य में रोज़गार के अवसरों का सृजन करना है। इस मिशन के द्वारा राज्य में औषधीय व सुगन्धित पौधों की कृषि में वृद्धि होगी। औषधीय तथा सुगन्धित पौधों पर मिलकर कार्य करने के लिए मेघालय बेसिन डेवलपमेंट अथॉरिटी और केन्द्रीय औषधीय व सुगन्धित पौधा संस्थान (CIMAP) ने समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। मेघालय सरकार ने 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राज्य में एक मिलियन पौधों को रोपित करने का लक्ष्य रखा है।

Categories: /

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement