करेंट अफेयर्स- नवंबर, 2018

CCEA ने जूट मैटेरिअल में पैकेजिंग के नियमों के विस्तार को मंज़ूरी दी

आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (CCEA) ने जूट पैकेजिंग मैटेरिअल अधिनियम, 1987 के तहत आवश्यक नियमों को विस्तार देने का निर्णय लिया है। CCEA ने 100 अन्न तथा 20% चीनी को विभिन्न जूट के बोरों में पैक किये जाने का निर्णय लिया है।

मुख्य बिंदु

इस निर्णय से जूट सेक्टर को काफी लाभ होगा और जूट उद्योग के विविधिकरण को भी बढ़ावा मिलेगा। इससे जूट  की उत्पादकता व गुणवत्ता में भी सुधार होगा तथा जूट उत्पादों की मांग भी बढ़ेगी। इससे मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल, बिहार, ओडिशा, असम, आंध्र प्रदेश, मेघालय और त्रिपुरा के किसानों को लाभ होगा।

जूट

कपास के बाद खेती तथा उपयोग की दृष्टि से जूट सबसे महत्वपूर्ण रेशा है, इसकी खेती जलवायु, ऋतू तथा मृदा पर निर्भर होती है। विश्व के कुल जूट उत्पादन का 85% गंगा डेल्टा क्षेत्र में उत्पादित किया जाता है। भारत विश्व का सबसे बड़ा जूट उत्पादक देश है, भारत में विश्व के कुल 60% जूट का उत्पादन किया जाता है। जूट उत्पादन में भारत के बांग्लादेश और चीन का स्थान है। भारत के प्रमुख जूट उत्पादक राज्य पश्चिम बंगाल, बिहार, असम और ओडिशा हैं।

भारत में जूट सेक्टर काफी हद तक सरकारी खरीद पर निर्भर है, सरकार प्रतिवर्ष लगभग 6500 करोड़ रुपये के जूट उत्पादों का क्रय करती है। देश भर में लगभग 40 लाख किसान आजीविका के लिए जूट पर निर्भर हैं। सरकार द्वारा जूट को बढ़ावा दिए जाने से इसकी मांग में वृद्धि होगी जिसका सीधा असर जूट किसानों की आर्थिक पर होगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

23 नवम्बर, 2018: गुरु नानक देव की जयंती

23 नवम्बर, 2018 को गुरु नानक देव की जयंती मनाई जा रही है। वे सिख धर्म के संस्थापक थे। वे सिख धर्म के पहले गुरु थे। उनका जन्म पाकिस्तान के पंजाब में ननकाना साहिब में हुआ था। उनकी शिक्षाओं का संकलन सिख धर्म की धार्मिक पुस्तक गुरु ग्रन्थ साहिब में किया गया है। उनकी मृत्यु 22 सितम्बर, 1539 को पाकिस्तान के करतारपुर में हुई थी।

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती समारोह के लिए की राष्ट्रीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया। इस समिति का गठन केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में किया गया है। केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली तथा राज्य संस्कृति मंत्री डॉ. महेश शर्मा इस समिति के सदस्य हैं।

मुख्य बिंदु

केन्द्र सरकार ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती को राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने के फैसला लिया है। इस उत्सव में विभिन्न किस्म की गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त कीर्तन, प्रभात फेरी, कथा, लंगर जैसी धार्मिक गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। इसके अलवा कई शैक्षणिक गतिविधियों जैसे सेमिनार, कार्यशाला तथा भाषण इत्यादि का आयोजन किया जायेगा। इस इवेंट में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति नॉलेज पार्टनर होगी।

सरकार पंजाब में सुल्तानपुर लोधी का विकास भी करेगी, इस स्थान पर गुरु नानक देव ने अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा व्यतीत किया। इस शहर को विरासत शहर (पिंड बाबे नानक दा) के रूप में स्थापित किया जाएगा। इस स्थान पर एक उच्च क्षमता युक्त टेलिस्कोप भी स्थापित किया जायेगा, इस टेलिस्कोप की सहायता से पाकिस्तान में करतारपुर साहिब को देखा जा सकेगा, करतारपुर साहिब में गुरु नानक देव ने अपने जीवन का अंतिम समय व्यतीत किया। इस इवेंट के उपलक्ष्य आर्थिक मामले विभाग, वित्त मंत्रालय तथा डाक विभाग गुरु नानक देव की स्मृति में सिक्के तथा पोस्टल स्टैम्प भी जारी करेंगे।

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement