करेंट अफेयर्स- नवंबर, 2018

आयुष मंत्रालय ने 18 नवम्बर को मनाया प्रथम नेचुरोपैथी दिवस

केन्द्रीय आयुर्वेद, योग व नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्ध और होमियोपैथी (आयुष) मंत्रालय ने 18 नवम्बर को पहला नेचुरोपैथी दिवस मनाया। इसका उद्देश्य डाइट व जीवनशैली में परिवर्तन करके स्वस्थ रहने के लिए लोगों को प्रेरित करना है। इस दिवस पर केन्द्रीय योग व नेचुरोपैथी अनुसन्धान परिषद् ने स्थानीय नेचुरोपैथी केन्द्रों व अस्पतालों के साथ हेल्थ कैंप, वर्कशॉप और प्रदर्शनी का आयोजन किया।

नेचुरोपैथी की सहायता से कई रोगों को रोकथाम की जा सकती है। यह बिना दवा की चिकित्सा प्रणाली है और इसका वित्तीय भार भी अधिक नहीं है। इसमें जीवनशली में परिवर्तन करके स्वास्थ्य लाभ लिया जा सकता है। वर्तमान में नेचुरोपैथी को वैलनेस सेंटर में बढ़ावा दिया जा रहा है।

पृष्ठभूमि

भारत में लगभग 5000 वर्षों से पारंपरिक औषधि व चिकित्सा पद्धति का उपयोग किया जा रहा है। आयुष कई पारंपरिक चिकित्सा प्रणालियों से मिलकर बना है, इसमें आयुर्वेद, योग व नेचुरोपैथी, यूनानी और होमियोपैथी शामिल हैं।
5 नवम्बर को प्रतिवर्ष राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया जाता है, पहली बार वर्ष 2016 में आयुर्वेद दिवस मनाया गया है। वर्ष 2017 में यूनानी दिवस की स्थापना की गयी थी, इसे 11 फरवरी को मनाया जाता है। इसके अतिरिक्त 4 जनवरी को सिद्ध दिवस तथा 18 नवम्बर को नेचुरोपैथी दिवस मनाया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

भारत सरकार ने तमिलनाडु में जल तथा स्वच्छता के लिए एशियाई विकास बैंक के साथ किये 169 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर

भारत सरकार ने तमिलनाडु में जल तथा स्वच्छता के लिए एशियाई विकास बैंक के साथ 169 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये। इन ऋण समझौता तमिलनाडु के अर्बन फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट प्रोग्राम के लिए किया गया है। यह ऋण तमिलनाडु को जल व स्वच्छता के लिए दिए जाने वाले 500 मिलियन डॉलर की ऋण राशि का हिस्सा है।

तमिलनाडु अर्बन फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट प्रोग्राम

इस कार्यक्रम के तहत तमिलनाडु के 10 शहरों में जलवायु रोधी स्वीरेज संग्रहण, उपचार तथा ट्रीटमेंट सिस्टम तैयार किया जायेगा। इस प्रोग्राम के अंतर्गत तमिलनाडु में देश का पहला सौर उर्जा से संचालित सीवेज उपचार प्लांट स्थापित किया जायेगा। इसके अलावा तमिलनाडु में स्मार्ट जल प्रबंधन प्रणाली भी स्थापित की जाएगी।

इस कार्यक्रम के द्वारा जटिल शहरी समस्याओं का समाधान किया जायेगा। इसके द्वारा संस्थागत क्षमता, जन चेतना तथा अर्बन गवर्नेंस को बढ़ावा मिलेगा। इससे तमिलनाडु में लगभग 40 लाख लोगों को लाभ होगा। ऋण की पहली किश्त का उपयोग चेन्नई, कोइम्बतूर, राजपलायम, तिरुचिरापल्ली, तिरुनेलवेली तथा वेल्लोर में किया जायेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement