करेंट अफेयर्स- नवंबर, 2018

गोवा में हुआ 49वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2018 का समापन

गोवा की राजधानी पणजी में 49वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) 2018 का समापन हुआ। समापन समारोह का आयोजन पणजी के बम्बोलिम में श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में हुआ। इजराइल के निर्देशक डैन वोलमैन को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त पटकथा लेखक सलीम खान को उनके योगदान के लिए IFFI 2018 विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उनके 10 लाख रुपये, प्रमाणपत्र तथा शाल प्रदान किया गया।

अन्य श्रेणियों के पुरस्कार

सर्वश्रेष्ठ फिल्म (गोल्डन पीकॉक) अवार्ड : डॉनबॉस (यूक्रेन की फिल्म) सेर्गेई लोजनित्सा द्वारा निर्देशित।

सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (सिल्वर पीकॉक) : लीजो जोस पेलिसेरी (मलयालम फिल्म – भारत)

सर्वश्रेष्ठ अभिनेता : चेम्बन विनोद

सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री : अनास्तासिया पुस्तोवित (व्हेन द ट्रीज़ फॉल, यूक्रेनियाई फिल्म)

निर्देशक की बेस्ट डेब्यू फीचर फिल्म के लिए सेंटेनरी अवार्ड : अल्बर्टो मोंटेरस II (रेस्पेतो फिल्म)

ICFT-यूनेस्को गाँधी मैडल : प्रवीण मोर्छाले द्वारा निर्देशित फिल्म “वाकिंग विद द विंड”

IFFI 2019

भारत का 49वां फिल्म महोत्सव गोवा की राजधानी पणजी में संपन्न हुआ, इस वर्ष फिल्म महोत्सव की थीम “न्यू इंडिया” थी, इसमें महोत्सव में खेल, इतिहास, एक्शन व खेल जैसी विभिन्न श्रेणियों की फ़िल्में शामिल की गयी। इस फिल्म महोत्सव में झारखण्ड पार्टनर राज्य था तथा इजराइल फोकस देश था।

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल

इस फिल्म फेस्टिवल का आयोजन केन्द्रीय सूचना व प्रसारण मंत्रालय, फिल्म महोत्सव निदेशालय तथा गोवासरकार द्वारा किया जा रहा है। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल की स्थापना 1952 में हुई थी, तब से इस फिल्म फेस्टिवल का आयोजन प्रतिवर्ष गोवा में किया जाता है। इस फिल्म फेस्टिवल के द्वारा विश्व भर के सिनेमा को अपनी फिल्म कला का प्रदर्शन करने के लिए प्लेटफार्म प्राप्त होता है।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

ए.एम. नायक को राष्ट्रीय कौशल विकास कारपोरेशन का चेयरमैन नियुक्त किया गया

केंद्र सरकार ने हाल ही में अनिल मणिभाई नायक को राष्ट्रीय कौशल विकास कारपोरेशन (NSDC) का चेयरमैन नियुक्त किया। वे वर्तमान में लार्सेन एंड टुब्रो के ग्रुप चेयरमैन हैं। उन्हें 2009 में देश के आर्थिक विकास में सहयोग के लिए पद्मभूषण से सम्मानित किया गया था।

राष्ट्रीय कौशल विकास कारपोरेशन (NSDC)

राष्ट्रीय कौशल विकास कारपोरेशन (NSDC) पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप गैर-लाभकारी कंपनी है, यह केन्द्रीय कौशल विकास व उद्यमशीलता मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना 2009 में गैर-लाभकारी कंपनी के रूप में की गयी थी। इसका उद्देश्य विभिन्न सेक्टर में कुशल कार्यबल उपलब्ध करवाना था।

NSDC में केंद्र सरकार के 49% शेयर हैं, जबकि शेष 51% शेयर निजी सेक्टर के पास हैं। NSDC का उद्देश्य देश में युवाओं में कौशल प्रदान करना है। इसका लक्ष्य 2022 तक 150 मिलियन लोगों को प्रशिक्षित करना है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement