NCERT अब पाठ्यपुस्तकों में शुरू करेगा QR कोड

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसन्धान और प्रशिक्षण परिषद् (NCERT) ने पाठ्य पुस्तकों में QR कोड (क्विक रेस्पोंस कोड) शामिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे छात्र QR कोड को फ़ोन इत्यादि से स्कैन करके अध्याय को फिल्म अथवा सरल भाषा में समझ सकते हैं।

मुख्य बिंदु

इस नवीन विचार के लिए NCERT ने आवश्यक सामग्री जैसे विडियो, पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन, मानचित्र तथ्य अन्य सामग्री इकठ्ठा करनी शुरू कर दी है। इस सामग्री को 1 से 12 कक्षा की पाठ्य सामग्री से लिंक किया जायेगा। यदि छात्र पुस्तक में दिए गए अध्याय को और अच्छे से समझना चाहता है, तो वह पुस्तक में दिए गए QR कोड को स्कैन करके अपने लैपटॉप अथवा अन्य डिजिटल बोर्ड पर विडियो अथवा चित्र के रूप में देख सकता है, या फिर सरल भाषा में पढ़ सकता है। यह सुविधा शैक्षणिक वर्ष 2019 से शुरू होगी।

QR कोड (क्विक रेस्पोंस कोड)

QR कोड द्विआयामी (मैट्रिक्स) बार कोड होता है, इसे केवल मशीने ही स्कैन कर सकती हैं। इसमें काल और सफ़ेद वर्ग दिए गए होते हैं, इसमें वेब लिंक, टेक्स्ट, ईमेल, नंबर अथवा अन्य जानकारी स्टोर की जाती है।  इस कोड को स्मार्टफ़ोन के कैमरा से भी स्कैन किया जा सकता है। इसमें 7089 अंक स्टोर किये जा सकते हैं, जबकि बार कोड में केवल 20 अंक ही स्टोर किये जा सकते हैं। यह बार कोड की अपेक्षा कम स्पेस घेरता है।

Month:

Categories:

Tags: , ,

« »

Advertisement

Comments